ब्रेकिंग : पिंजरे में फंसे वन्यजीवों को नुकसान पहुंचा, तो अफसरों पर गिरेगी गाज

ब्रेकिंग : पिंजरे में फंसे वन्यजीवों को नुकसान पहुंचा, तो अफसरों पर गिरेगी गाज

देहरादून/इन्फो उत्तराखंड

उत्तराखंड सरकार ने वन विभाग को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि अगर किसी पिंजरे में फंसे वन्यजीव को यदि किसी भी प्रकार का नुकसान पहुंचा, तो इसके लिए वन विभाग के अधिकारी जवाबदेह होंगे।

बीते दिनों पौड़ी जिले में पिंजरे में फंसे गुलदार को ग्रामीण की ओर से उसे जिंदा जला दिए जाने की घटना के बाद वन विभाग वन्यजीवों की सुरक्षा को लेकर हरकत में आ गया है।

यह भी पढ़ें 👉  दु:खद : यहां आदि कैलाश यात्रा पर गए तीर्थयात्री की हृदय गति (heart rate) रुकने से मौत

चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन ने वन विभाग को इस संबंध में दिशा निर्देश देते हुए कहा कि पिंजरे में फंसे वन्यजीवों की सुरक्षा का जिम्मा संबंधित प्रभाग के वनाधिकारियों का होगा। पिंजरों की 24 घंटे निगरानी के लिए कर्मचारी को तैनात कर दिया जाऐगा।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर : यहां पिंजरे में कैद हुआ गुलदार, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस। देखें वीडियो....

इस संबंध में चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन डाॅ. पराग मधुकर धकाते ने बताया कि जिस किसी वन प्रभाग में पिंजरा लगाया जाएगा, इसमें फंसने वाले वन्यजीवों की सुरक्षा का जिम्मा भी संबंधित प्रभाग के अधिकारियों का ही होगा।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग : निरीक्षक मनोज मनवाल को प्रभारी निरीक्षक कोतवाली डोईवाला के पद पर किया नियुक्त। देखें आदेश

पिंजरा लगाने के साथ ही 24 घंटे कर्मचारी और आसपास सीसीटीवी और कैमरा ट्रैप भी लगाए जाएंगे, ताकि पिंजरे में फंसतें ही वन्यजीव को तुरन्त रेस्क्यू कर वहां से निकाला जा सके।

 

उत्तराखंड