बड़ी खबर : अपने ही विधायक से नाराज़ होकर भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चे के सभी पदाधिकारों ने दिया इस्तीफ़ा

बड़ी खबर : अपने ही विधायक से नाराज़ होकर भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चे के सभी पदाधिकारों ने दिया इस्तीफ़ा

किच्छा /इन्फो उत्तराखंड

उत्तराखंड से एक और बड़ी खबर सामने आ रही है जहां  बीजेपी के अल्पसंख्यक मोर्चे के लगभग सभी पदाधिकारियों ने भाजपा से इस्तीफ़ा दे दिया है। बताया जा रहा है की सीटिंग विधायक राजेश शुक्ला की गोल टोपी वाले बयान से आहत होकर अल्पसंख्यक मोर्चे के पदाधिकारियों ने एक साथ इस्तीफा दिया है।

आपको बताते चलें की आजकल मैदानी क्षेत्रों से लेकर पर्वतीय क्षेत्रों तक में कार्यकर्ताओं में नाराज़गी की ख़बरें सामने आ रही हैं। ऐसे में दोनों ही पार्टियों के लिए यह समय इस मामले में मुश्किल होता जा रहा है की आखिर किस तरह सभी कार्यकर्ताओं को राज़ी रखा जा सके, हालाँकि की कुछ बागी कार्यकर्ताओं को अनुशासनहीनता का आरोप लगाकर पार्टी से 6-6 वर्षों के लिए निष्काषित भी किया जा रहा है लेकिन नाराज़गी की ख़बरें ज्यों की त्यों हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी (LBSNA) में आयोजित अमृत महोत्सव डिजिटल प्रदर्शनी व "आजादी का अमृत महोत्सव" में किया प्रतिभाग : गणेश जोशी

गौरतलब है की पिछले दिनों सीटिंग विधायक राजेश शुक्ला द्वारा दिया गया एक बयान काफी चर्चाओं में चल रहा है जिसमे वो अल्पसंख्यक समुदाय को ‘गोल टोपी वाले’ शब्दों के साथ संबोधन कर रहें हैं। यह विडियो चुनावी माहौल में जंगल में आग की तरह फ़ैल गया तथा विपक्षी पार्टियों ने इसे हाथों हाथ लिया। इसी बयान से आहत होकर अल्पसंख्यक मोर्चे के जिलाध्यक्ष गफ्फार खान ने अपने पदाधिकारों सहित भाजपा से आज इस्तीफा दे दिया।

यह भी पढ़ें 👉  Viral video : यहां दादी ने गंगा में पुल से लगाई छलांग, देखकर उड़ गये लोगों के होश

गफ्फार खान ने सिटिंग विधायक पर आरोप लगाया कि उनकी अनदेखी की जा रही थी तथा एक समुदाय को लेकर अनर्गल टिप्पणी की जा रही थी जिसकी ऊपर शिकायत करने के बाद भी नही सुनी तथा आज पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया गया है।

उत्तराखंड