उत्तराखंड

ब्रेकिंग : ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के निर्माण कार्यों का DM ने किया स्थलीय निरीक्षण, अधिकारियों को दिए जरूरी दिशा-निर्देश

Ad

रुद्रप्रयाग/इंफो उत्तराखंड 

ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेल परियोजना के निर्माण कार्यों का जिलाधिकारी मयूर दीक्षित (DM Mayur Dixit) ने रेल परियोजना एवं कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों के साथ स्थलीय निरीक्षण कर जायजा लिया।

DM ने रेल परियोजना नरकोटा से खांकरा तक गतिमान टनल निर्माण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण कर रेल परियोजना के अधिकारियों एवं कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की।

जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों से रेल परियोजना के निर्माण कार्यों को समयबद्धता एवं गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने को कहा, उन्होंने कहा कि रेल परियोजना के गतिमान कार्यों से स्थानीय जनता को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो एवं किसी की कोई समस्या हो तो उसका यथाशीघ्र निराकरण किया जाए। जिलाधिकारी द्वारा टनल में कार्य कर रहे कर्मचारियों की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए गए।

यह भी पढ़ें 👉  गुड न्यूज : UKPSC ने पटवारी/लेखपाल भर्ती परीक्षा के प्रवेश पत्र (Admit card) किए जारी, 12 फरवरी को होगी परीक्षा, ऐसे करें अपना Admit card डाउनलोड..

उन्होंने रेल परियोजना निर्माण कार्य में आ रही किसी भी समस्या एवं परेशानी से भी संबंधित अधिकारियों से जानकारी भी मांगी। ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के मैनेजर बीपी गैरोला ने DM को अवगत कराया है, कि ऋषिकेश से कर्णप्रयाग तक 9 पैच पर निर्माण कार्य गतिमान है, जिसमें 5 कार्यदायी संस्थाएं कार्य कर रही हैं।

यह भी पढ़ें 👉  ग्राम पंचायतों में आ रही समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन, शीघ्र ही मांगे पूरी न होने पर प्रधान संगठन ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी 

उन्होंने कहा कि नरकोटा से खांकरा तक 2 किमी टनल का कार्य पूर्ण किया जा चुका है, और सभी टनलों में कार्य गतिमान है। उन्होंने रात्रि में टनल के निर्माण कार्यों के लिए की जा रही ब्लास्टिंग के लिए अनुमति की मांग की, इसके साथ ही टनल निर्माण कार्य में उपलब्ध हो रहा मटेरियल के उचित डंपिंग जोन की भी मांग की।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग : BJP ने चार मोर्चा के जिला अध्यक्षों की घोषणा, इन्हें मिली नई कमान, देखें लिस्ट

DM Mayur Dixit ने रेल परियोजना के अधिकारियों एवं कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों से कहा कि रात्रि में यदि जो भी ब्लास्ट किया जाता है, तो उसके संबंध में स्थानीय लोगों को पहले ही इसकी सूचना से अवगत कराया जाए।

इसके साथ ही उन्होंने तहसीलदार को भी इसकी सूचना उपलब्ध कराने को कहा, ताकि इस संबंध में उनके द्वारा भी स्थानीय ग्रामीणों को जानकारी दी जा सके।

उन्होंने डंपिंग जोन बनाए जाने के लिए तहसीलदार को उचित स्थान चिन्हित करने के निर्देश दिए।

To Top