बड़ी खबर : जनहित की विकास परियोजनाओं में हो देरी को लेकर अधिकारियों को लगाई जमकर फटकार : ऋतु खंडूड़ी 

बड़ी खबर : जनहित की विकास परियोजनाओं में हो देरी को लेकर अधिकारियों को लगाई जमकर फटकार : ऋतु खंडूड़ी 

*विकास कार्यों में देरी करने वाले अधिकारियों को स्पीकर ने लगाई फटकार*

रिपोर्ट भगवान सिंह पौड़ी गढ़वाल

कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत गतिमान विकास कार्यों की प्रगति एवं प्रस्तावित योजनाओं पर कार्यवाही सहित जनता से संबंधित महत्वपूर्ण विषयों को लेकर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण ने जनपद स्तरीय एवं समस्त विभाग के अधिकारियों संग समीक्षा बैठक की।

इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने जनहित की विकास परियोजनाओं में हो रही लेटलतीफी को लेकर कड़ी नाराजगी जताते हुए विभागीय अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने अधिकारियों को साफ शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि जनहित के कार्यों में किसी प्रकार की लापरवाही अक्षम्य है।

किसी प्रकार की गड़बड़ी, भ्रष्टाचार अथवा अनावश्यक लेटलतीफी की सूचना मिली तो संबंधित अधिकारियों की जवाबदेही तय की जाएगी।कहा कि विकास परियोजनाओं में देरी से न केवल जनता के धन का अपव्यय होता है, बल्कि जनहित भी प्रभावित होता है।

लैंसडौन वन प्रभाग के गेस्ट हाउस में आयोजित समीक्षा बैठक के दौरान जिलाअधिकारी, एसएसपी सहित लोक निर्माण विभाग, विद्युत विभाग, जल संस्थान, ग्रामीण विकास विभाग, वन, स्वास्थ्य, लघु सिंचाई, पुलिस प्रशासन, श्रम, पेयजल निगम, नगर निगम, पशु चिकित्सा विभाग सहित कई अन्य विभागों के अधिकारी एवं जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद थे।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने अधिकारियों से क्षेत्र के अंतर्गत विकास कार्यों में गति लाते हुए गुणवत्तायुक्त काम करने पर बल दिया। उन्होंने विभागवार शासकीय योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जिले में सभी सीनियर अफसरों को फील्ड में विजिट करना चाहिए ताकि हकीकत से रूबरू हो सकें साथ ही राज्य सरकार की योजनाओं का सफल क्रियान्वयन कर सरकार की मंशानुरूप आमजन को लाभान्वित करना सुनिश्चित करें।

उन्होंने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों से संवाद करते हुए उनके विभागों से संबंधित योजनाओं और विभिन्न कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में आ रही समस्याओं के बारे में भी जानकारी ली और उनके त्वरित निस्तारण की बात कही। उन्होंने विकास कार्यों और योजनाओं का उचित पारदर्शिता, गुणवत्ता और समय से बेहतर क्रियान्वयन के निर्देश दिए।

कहा कि जिन कार्यों की महत्वता अधिक है और जिनसे अधिक लोगों के सरोकार जुड़े हुए हैं उनकी प्राथमिकता निर्धारित करते हुए उसे शीघ्रता से पूर्ण करें।

बता दें की विधानसभा अध्यक्ष द्वारा विगत महीनों में समय-समय पर सभी विभाग के अधिकारियों के संग बैठक कर योजनाओं को क्रियान्वयन करने के लिए निर्देशित किया था। उसी क्रम में विभागीय अधिकारियों द्वारा अब तक की गई कार्रवाई की जानकारी के लिए विधानसभा अध्यक्ष ने अधिकारियों की बैठक बुलाई।

इस दौरान विभागवार अधिकारियों द्वारा योजनाओं की प्रगति की जानकारी विधानसभा अध्यक्ष को दी गई।

इस दौरान ऋतु खंडूड़ी ने विभागीय अधिकारियों से सड़क निर्माण, पेयजल आपूर्ति, विद्युत सहित विभिन्न निर्माण कार्यों के लिए प्रस्तावित योजनाओं को त्वरित गति से कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

वहीं कोटद्वार क्षेत्र में ट्रेचिंग ग्राउंड, एसटीपी प्लांट का निर्माण, क्षतिग्रस्त सुखरो पुल के मरमत्तीकरण कार्य, पेयजल आपूर्ति के लिए अमृत योजना, नदियों पर बाढ़ सुरक्षा योजना कार्य, लालढांग चिल्लरखाल मोटर मार्ग निर्माण कार्य, कोटद्वार बाईपास, अवैध खनन पर रोक जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर अधिकारियों से जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

विधानसभा अध्यक्ष ने स्वास्थ्य विभाग से बेस अस्पताल कोटद्वार में डाक्टरों एवं मेडिकल स्टाफ की तैनाती, पुलिस प्रशासन से कानून व्यवस्था से संबंधित विषयों पर निर्देश दिए।

विधानसभा अध्यक्ष ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण और लोक निर्माण विभाग को सड़क निर्माण, डामरीकरण और सड़क सुधारीकरण से जुड़े हुए कार्यों के संबंध में निर्देशित किया कि जिन निर्माण कार्यों की स्वीकृति भारत सरकार अथवा शासन से होनी है उनका तत्काल प्रस्ताव तैयार करें, साथ ही जिन कार्यों की मंजूरी मिल चुकी है उनको तत्काल प्रभाव से पूर्ण करें।

उन्होंने मुख्य शिक्षा अधिकारी को ऐसे विद्यालय जिनकी दशा में सुधार करना अपेक्षित है के सुधारीकरण का प्रस्ताव बनाने और विभिन्न विद्यालयों में पूर्व में आयोजित कराई गई विभिन्न प्रतिस्पर्धी प्रतियोगिताओं का विवरण भी उपलब्ध कराने को कहा।

उन्होंने पेयजल निगम और जल संस्थान को भी निर्देशित किया कि जहां पर पेयजल की समस्या रहती है अथवा जहां पर पेयजल की गुणवत्ता अपेक्षित नहीं है वहां के लिए प्रस्ताव बनाकर शीघ्रता से आवश्यक कार्यवाही करें।

पर्यटन विभाग को विभिन्न गेस्ट हाउस की कंडीशन और उसकी स्थिति का विवरण प्रस्तुत करने के निर्देश देते हुए कहा कि कण्व आश्रम क्षेत्र में पर्यटन से जुड़े हुए निर्माण कार्यों के संबंध में प्रस्ताव तैयार करें। उन्होंने कृषि और उद्यान विभाग को कृषको को दिए जाने वाले बीज, दवाएं और पौधे की गुणवत्ता में सुधार करने और उचित गुणवत्ता के बीज और पौधे ही उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।

अध्यक्ष ने जिला बाल विकास अधिकारी (डीपीओ) को निर्देशित किया कि जहां पर आंगनवाड़ी केंद्रों के संचालन के लिए भवन की आवश्यकता है तथा यदि उस परिधि में ग्राम विकास, पंचायतराज, समाजकल्याण अथवा अन्य किसी विभाग का भवन यदि खाली हो और अच्छी स्थिति में है तो उसको आंगनवाड़ी केंद्र के संचालन अथवा विभाग के उपयोग के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए, जिससे खाली भवनों का सदुपयोग भी सुनिश्चित हो सके।

उन्होंने उरेडा विभाग को सौर विद्युत ऊर्जा के माध्यम से ऐसे स्थलों, सड़क मार्गों अथवा लोगों के अधिक आवागमन वाले मार्गों में सौर विद्युत से प्रकाशमान करने के निर्देश दिए। उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को निर्देशित किया कि राष्ट्रीय राजमार्ग में अतिक्रमण मुक्त किए गए स्थानों को जन सुविधा के विभिन्न उपयोग के रूप में विकसित करें। उन्होंने पशुपालन विभाग को वर्तमान में पशु से संबंधित लंपी वायरस रोग पर नियंत्रण पाने के लिए उचित कदम उठाने के निर्देश दिए।

बैठक में जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदंडे ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि अध्यक्ष महोदया द्वारा दिए गए निर्देशों पर उचित संज्ञान लेते हुए यथोचित कार्रवाई करना सुनिश्चित करें।

उन्होने आज की बैठक में उठाए गए बिंदुओं पर संज्ञान लेते हुए आवश्यकतानुसार डीपीआर अथवा प्रस्ताव तैयार करने तथा जिन प्रकरणों का समाधान शासन स्तर पर होना है उसके लिए भी आवश्यक कार्रवाई पूर्ण करने के लिए कहा।

इस अवसर पर जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक यशवंत चौहान, एएसपी शेखर सुयाल, मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पांडे, डीएफओ अमरीश कुमार, परियोजना निदेशक डीआरडीए संजीव कुमार रॉय, जिला विकास अधिकारी पुष्पेंद्र चौहान, उप जिलाधकारी प्रमोद कुमार, प्रभागीय वन अधिकारी दिनकर तिवारी, मुख्य कृषि अधिकारी अमरेंद्र चौधरी, मुख्य शिक्षा अधिकारी डॉ आनंद भारद्वाज, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल ओपी फरस्वान, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग डीपी सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रवीण कुमार, स्वजल प्रोजेक्ट मैनेजर दीपक रावत, अधिशासी अभियंता जल संस्थान संतोष कुमार उपाध्याय, नगर आयुक्त केएस नेगी, अधिशासी अभियंता यूपीसीएल नंदिता अग्रवाल, पूर्ति निरीक्षक करण छेत्री, एआरटीओ पंकज श्रीवास्तव, अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग अजय कुमार जॉन सहित अन्य विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

हिल न्यूज़