उत्त्तराखण्ड विधानसभा चुनाव में धाद ने शुरू किया अभियान मेरा मुद्दा है

उत्त्तराखण्ड विधानसभा चुनाव में धाद ने शुरू किया अभियान मेरा मुद्दा है

  • प्रदेश के विभिन्न विषयों पर लोग अपनी राय और मुद्दों के साथ चलाएंगे पोस्टर कैंपेन।
  • अभियान का पहला पोस्टर उत्तराखंड की भाषाओं के मुद्दे के साथ जारी किया गया।

 

देहरादून/इन्फो उत्तराखंड

उत्त्तराखण्ड के सामाजिक संगठन धाद ने विधानसभा चुनाव में विभिन्न विषयों पर लोगों की राय और मुद्दों के साथ पोस्टर कैंपेन मेरा मुद्दा है प्रारंभ किया। अभियान की जानकारी देते हुए संस्था के सचिव तन्मय ने इन्फो उत्तराखंड को बताया कि सभी राजनीतिक पार्टियां अपने घोषणा पत्र जारी कर रही है।

राजनीतिक घोषणाओं के इतर आम समाज अपनी दृष्टि समझ और मुद्दे रखता है। हम सब को एक नागरिक के रूप में मतदान करने के साथ राज्य के विभिन्न मुद्दों पर समझ बनाने और उन्हें सार्वजनिक रूप से अभिव्यक्त करने की जरूरत है।
धाद गत तीन दशकों से प्रदेश के विभिन्न मुद्दों पर क्रियाशील रही है एक नागरिक संगठन होने के नाते हम चाह्ते है। कि सभी नागरिक इस अवसर पर अपने समझ और मुद्दे उठाने की पहल करें।

धाद ने इस विचार के पक्ष में पहल करते हुए हर नागरिक को अपना मुद्दा उठाने और साझा करने के लिए एक पोस्टर अभियान प्रारम्भ किया है- मेरा मुद्दा है। अभियान में सब अपनी समझ और मुद्दों को एक पोस्टर की शक्ल में जारी करेंगे। धाद वर्तमान में जिन विषयो पर काम कर रही है उनके साथ जुडे मुद्दों पर केंद्रित पोस्टर भी जारी करेगी। साथ ही प्रदेश के लोग अपने राज्य में जिन मुद्दों को महत्वपूर्ण मानते है उनके साथ पोस्टर जारी करेंगे।

पहला पोस्टर मातृभाषा एकाँश द्वारा उत्तराखण्ड की मातृभाषाओं के पक्ष में जारी किया गया जिसमें राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुसार मातृभाषाओं में पढ़ाई के प्रावधान के तहत सरकारी ही नहीं बल्कि सभी गैर सरकारी स्कूलों में भी स्थानीय भाषाओं को पढ़ाने का प्रावधान का मुद्दा उठाया गया है।

साथ ही उत्तराखण्ड के भाषा संस्थान को स्थानीय भाषाओं के संरक्षण और विकास के लिए साहित्य एवं नियमित पत्रिकाओं का प्रकाशन शोध और भाषाओं को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल कराने का प्रयास का मुद्दा उठाया गया है।

अभियान का लक्ष्य 1 लाख लोगों तक पहुंच बनाने का है। जिसके लिए सभी नागरिकों से अपील की गई है। संपर्क के लिए अभियान की मेल आई डी है- meramuddahai@gmail.com

उत्तराखंड