ब्रेकिंग : DM ने कावंड यात्रा को लेकर संबंधित विभागीय अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक। अधिकारियों को दिये ये निर्देश

ब्रेकिंग : DM ने कावंड यात्रा को लेकर संबंधित विभागीय अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक। अधिकारियों को दिये ये निर्देश

रिपोर्ट : भगवान सिंह, पौड़ी

जिलाधिकारी डॉ0 विजय कुमार जोगदण्डे की अध्यक्षता में आज नीलकंठ मंदिर सभागार में आगामी कावंड यात्रा को लेकर संबंधित विभागीय अधिकारियों के साथ विभिन्न व्यवस्थाओं के संपादन हेतु समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

देखें वीडियो :-

जिलाधिकारी ने पेयजल, लोक निर्माण, परिवहन विभाग, पुलिस, वन विभाग, जल संस्थान, फायर पुलिस, जिला पंचायत, ग्राम पंचायत, स्वास्थ्य विभाग, विद्युत, नगर निकायों, उरेड़ा विभाग सहित अन्य विभागीय अधिकारियों को पेयजल, सड़क, विद्युत, स्वास्थ्य व्यवस्था, फायर सुरक्षा, यातायात व्यवस्था, यात्रा मार्ग सुरक्षा, भीड़ प्रबंधन, पार्किंग को दुरूस्त करने तथा इसके लिए विभागीय स्तर पर व अन्य विभागीय कार्यो को आसान, व्यवस्थित, सुरक्षित करने के निर्देश दिये।

उन्होंने अधिशासी अभियंता पेयजल निगम को नीलकंठ तथा ऋषिकेश से नीलकंठ रूट पर पेयजल की समुचित व्यवस्था के लिए नियमित पेयजल सप्लाई के साथ ही पेयजल के लिए वाटर टैंक इत्यादि के माध्यम से वैकल्पिक व्यवस्था बनाने के निर्देश भी दिये।

साथ ही उन्होंने नीलकंठ स्थित सभी पेयजल टैंकों की एक सप्ताह के भीतर सफाई करने तथा सभी हैंडपंपों को व्यवस्थित करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग को कावंड यात्रा से जुड़े सभी सड़कों को सुधारीकरण के कार्यो को मानसून सीजन से पूर्व तत्काल पूर्ण करने को कहा।

उन्होंने संपूर्ण यात्रा मार्ग पर बैरिकेटिंग में वाइटवाश करने, सड़क किनारे नालियों की सफाई, क्षतिग्रस्त पुस्तों को ठीक करने, सुरक्षा दीवार तथा अन्य सुधारीकरण कार्यो को भी तेजी से पूर्ण करने के निर्देश दिये। साथ ही मार्ग अवरूद्व होने पर जेसीबी मशीनों की तैनाती करने के निर्देश भी दिये।

उन्होंने यातायात रूट पर विभिन्न स्थानों पर डिस्प्ले बोर्ड के साथ ही मार्ग के आसपास शौचालय, एटीएम, पुलिस स्टेशन, खानपान, पार्किंग तथा विभागीय अधिकारी नाम व फोन नम्बर इत्यादि अनिवार्य रूप से बोर्ड पर चस्पा करने को कहा। जिलाधिकारी ने कावंड यात्रा की संपूर्ण व्यवस्थाओं के संचालन तथा तैयारियों के संपादन हेतु एक कमेठी का गठन किया।

जिसमें उपजिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी, मंदिर समिति, लोक निर्माण विभाग, पेयजल निगम, जिला पंचायत, ग्राम पंचायत सहित मुख्य विभागों के सदस्य सामिल रहेंगे। उन्होंने कहा कि कावंड यात्रा समिति, पार्किंग, सफाई कर्मी तथा अन्य वॉलन्टियर्स को अनिवार्य रूप से वर्दी तथा उनको पहचान पत्र जारी करके ही तैनात करें। साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि समस्त वॉलन्टियर्स नियमित रूप से तैनात रहने चाहिए।

उन्होंने सभी होटल संचालकों तथा बड़े दुकानदारों को अपने फ्रंट साइड पर अनिवार्य रूप से सीसीटीवी कैमरा लगाने व उसनी नियमित सूचना स्थानीय पुलिस से साझा करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने वन विभाग को निर्देशित किया कि यात्रा रूटों पर पेड़ों की लॉपिंग तथा स्वास्थ्य विभाग को अलग-अलग स्थानों पर एंबुलेंश के साथ ही मेडिकल स्टॉॅफ की तैनाती करने को कहा।

उन्होंने जिला पंचायत, पेयजल निगम व पुलिस निर्देशित किया कि कावंड यात्रा के समय कंट्रोल रूम स्थापित करें। इस दौरान उन्होंने पुलिस विभाग को यातायात व्यवस्था, भीड़ नियंत्रण, अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होंने जिला पंचायत को निर्देशित किया कि बैठने के लिए छांवदार बेंच की व्यवस्था करने के निर्देश दिये। उन्होंने उरेड़ा व जिला पंचायत को निर्देशित किया कि यात्रा रूट पर 12-12 स्ट्रीट लाइट लगाने के निर्देश दिये।

उन्होंने मेला प्रबंधन समिति को निर्देशित किया कि चिन्हीत भूमि पर उचित पार्किंग व्यवस्था तथा आने-जाने के लिए मार्ग खुलवाएं। इसके अलावा उन्होंने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि नियमित रूप से साफ-सफाई के लिए 30 नये सफाई कर्मियों की तैनाती करना सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर नीलकंठ मंदिर समिति के मंहत सुभाष गिरी, उपजिलाधिकारी प्रमोद कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 प्रवीण कुमार, सीओ श्यातदत्त नौटियाल, तहसीलदार मनजीत सिंह, ग्राम प्रधान नीरज सहित विभागीय अधिकारी व अन्य उपस्थित थे।

उत्तराखंड