दु:खद : फंदे से लटका मिला भाजपा नेता के बेटे का शव। सुसाइड नोट में मिली ये बात

दु:खद : फंदे से लटका मिला भाजपा नेता के बेटे का शव। सुसाइड नोट में मिली ये बात

आगरा/ इन्फो उत्तराखंड
आगरा से बड़ी दुखद खबर सामने आ रही है, जहां थाना क्षेत्र के बीटेक फोर्थ ईयर के छात्र ने फांसी लगाकर जान दे दी। बेटे के मौत से परिवार में कोहराम मच गया।
जानकारी के अनुसार नगला पदी के दुर्गानगर में रहने वाले अनूप तिवारी भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष के बेटे है। उनके दो बेटे हैं, जिसमें से बड़े बेटे का नाम (मृत्युंजय तिवारी) और छोटा बेटा का नाम (धनंजय तिवारी) है। छोटा बेटा धनंजय तिवारी आगरा के एक निजी काॅलेज में बीटेक का छात्र था।
शनिवार सुबह जब देर तक धनंजय कमरे से बाहर नहीं आया तो परिजन उसके कमरे में ही चले गए। कमरे में जब उसके मम्मी पापा पहुंचे तो बेटे का शव पंखे पर लटका देख परिजनों के नीचे से जमीन खिसक गई। जिसके बाद आस पास के लोगों ने चीख-पुकार की आवाज सुनी तो वह भी दौड़ कर आ गए। जिसके बाद लोगों ने धनंजय का शव पंखे पर लटक कर देखा तो पुलिस को घटना की सूचना दे दी।
पुलिस ने मुताबिक निरीक्षण करने के बाद शव को पंखे से नीचे उतारा गया जिसके बाद उसके कमरे में पुलिस को निरीक्षण करने के दौरान एक सुसाइड नोट भी मिला। जिसमें लिखा था कि मम्मी पापा मुझे माफ कर देना मुझ से ये बर्दाश्त नहीं हो रहा है।
ये बात लिखी सुसाइड नोट में 
सुसाइड नोट में लिखा है कि  ‘सॉरी मम्मी पापा माफ कर देना मुझे। मैं जा रहा हूं आप सबको छोड़कर। अब बहुत हो गया। मुझसे ये सब और नहीं झिल रहा। मैं कितने कॉम्पलिकेशन्स के साथ जी रहा हूं मैं जानता हूं। आई एम सॉरी। जो भी कुछ मेरी लाइफ में हुआ वो गोलू को, आदित्य को और (एक लड़की का नाम) को सब पता है। बस ये 3 लड़के हैं- मयंक शर्मा, संचित गुप्ता और एक मयंक का भाई। इन्हें देख लेना। बाकी शौर्य को इन्फॉर्म करके बुला लेना। बस एक रिक्वेस्ट है कि पोस्टमॉर्टम ना करवाना बाकी कुछ नहीं चाहिए। गोलू भाई मम्मी पापा का ख्याल रखना। और इन लड़कों को देख लेना। ये  बचने नहीं चाहिए एट ऐनी कॉस्ट। ये सुसाइड नहीं काइंड ऑफ मर्डर है।
उत्तराखंड