बड़ी खबर : पतंजलि योग ग्राम की फर्जी वेबसाइट बनाकर बुकिंग के नाम पर धोखाधड़ी, मुकदमा दर्ज

बड़ी खबर : पतंजलि योग ग्राम की फर्जी वेबसाइट बनाकर बुकिंग के नाम पर धोखाधड़ी, मुकदमा दर्ज

हरिद्वार/इन्फो उत्तराखंड

योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजलि योग ग्राम में ऑनलाइन बुकिंग और इलाज के नाम पर कुछ वेबसाइट के जरिए फर्जीवड़ा किया जा रहा था। ऐसे में अब पतंजलि योगपीठ की शिकायत पर सिडकुल थाना पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक, लोगों को इन फर्जी वेबसाइट के जरिए ईमेल भी किया जा रहा था, जिसमें योग गुरु बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण के फोटो भी विज्ञापन के तौर पर लगाये गये थे। पतंजलि योग पीठ ट्रस्ट एवं योग ग्राम के अधिकृत अम्बरीश कुमार निवासी ग्राम औरंगाबाद ने थाना सिडकुल को इस मामले की लिखित शिकायत दी है।

यह भी पढ़ें 👉  दु:खद : खुद की खुशी के लिए की खुदखुशी, श्रीनगर नैथाना पुल से युवती ने मारी छलांग। देखें वीडियो

योगग्राम के नाम पर फ्रॉड से सावधानी रखें फेसबुक, गूगल आदि पर जालसाज लोगों ने फर्जी अकॉउंट बनाकर योगग्राम के नाम से जालसाजी करके लोगों को ठगते हैं। इस ठगी से बचें और केवल योगग्राम के ऑफिशियल नंबर आपको आस्था पर मिलते हैं वहाँ पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाएं। योगग्राम पंजीकरण pic.twitter.com/Gcck5AQZ3W

– स्वामी रामदेव (@yogrishiramdev) February 16, 2022

पुलिस को दी तहरीर में बताया गया कि योग ग्राम के नाम से फर्जी वेबसाइटों का संचालन किया जा रहा है. साथ ही इन वेबसाइटों से योग ग्राम में इलाज व कमरा बुकिंग के नाम पर धोखाधड़ी और फर्जीवाड़ा किया जा रहा है। अम्बरीश कु का कहना है कि फर्जी वेबसाइट से योग ग्राम की प्रतिष्ठा को भी नुकसान पहुंचाया जा रहा है। इसके साथ ही जो आर्थिक व वाणिज्यिक लाभ प्रतिष्ठान को मिलना चाहिए, उसको भी उक्त आरोपियों द्वारा धोखाधड़ी से हड़पा जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  इंसानियत : मसूरी में जाम में फंसी एंबुलेंस, स्थानीय लोगों व पीआरडी जवानों की कड़ी मशक्कत से निकाली गई एंबुलेंस

पहले भी हुआ फर्जीवाड़ा : इस बार तो वेबसाइट के जरिए फर्जीवाड़ा किया जा रहा है, जबकि कुछ माह पहले एसओजी ने पतंजलि ग्राम के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले एक व्यक्ति को आगरा से गिरफ्तार किया था। जिसके पास से भारी मात्रा में ऐसी फर्जी दवाएं मिली थी, जिसे वह बाबा रामदेव का फोटो लगाकर आसानी से बेच रहा था।

यह भी पढ़ें 👉  गुड न्यूज : उत्तराखंड पुलिस (कांस्टेबल) भर्ती प्रक्रिया में छूटे हुए युवाओं को एक और मौका। देखें कब से होंगे शारीरिक दक्षता

क्या कहती है पुलिस: सिडकुल थाना प्रभारी प्रमोद उनियाल ने बताया कि ऑनलाइन फर्जीवाड़े की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। इस मामले में अब गहनता से जांच शुरू कर दी गई है जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

उत्तराखंड