उत्तराखंड के बेरोजगार युवाओं के लिए खुशखबरी, अगले तीन माह में शुरू होगी बतौर अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया

उत्तराखंड के बेरोजगार युवाओं के लिए खुशखबरी, अगले तीन माह में शुरू होगी बतौर अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया

देहरादून/इंफो उत्तराखंड

सेना की तैयारी करने वाले युवाओं के लिए अच्ची खबर है, जहां सरकार ने उत्तराखंड में बतौर अग्निवीर भर्ती के माध्यम से बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने जा रही है।

उत्तराखंड में भर्ती रैली अगले 90 दिनों में होगी। वहीं अगस्त अंत या सितम्बर शुरू होते ही भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी।

अग्निवीरों के पहले बैच का प्रशिक्षण एक जनवरी को शुरू होगा और यह बैच जुलाई में सेना में विधिवत रूप से शामिल हो जायेगा। सैन्य प्रबंधन दूर-दराज के क्षेत्रों तक पहुंचकर युवाओं को जागरूक भी करेगा।

जीओसी ने कहा कि हमारी पहली कोशिश है, कि इस भर्ती प्रक्रिया को लेकर ज्यादा से ज्यादा जागरूक पैदा की जाए। जिसमें स्कूल, कालेज, एनसीसी के जरिये भी युवाओं को इस योजना के बारे में बताया जाएगा। ऐसे में अधिकाधिक युवाओं को सेना भर्ती होने का मौका मिलेगा।

पहली भर्ती में देशभर से 40 हजार युवाओं को बतौर अग्निवीर सेना में भर्ती किया जाएगा। चयनित युवाओं को पहले छह माह का प्रतिशक्षण दिया जाएगा, उसके बाद अगले साढ़े तीन साल तक व सेना में तैनात रहेेंगे।

आईटीआई के जरिये मिलेंगे दक्ष युवा

मेजर जनरल चैधरी ने कहा कि दसवीं पास कर आए अग्निवीर को बारहवीं के समकक्ष प्रमाण पत्र दिया जाएगा। वहीं, बाहरवीं उत्तीर्ण करने के बाद आने वालों को क्रेडिट प्वाइंट या डिप्लोमा प्रदान किया जाएगा।

सशस्त्र बलों की तकनीकी जरूरतों को पूरा करने कि लिए सेना औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान आईटीआई के साथ भी बात कर रही है। आईटीआई के जरिये तकनीकी रूप से दक्ष व कुशल युवा मिल पाएंगे।

महिलाएं भी बनेंगी अग्निवीर

उत्तराखंड में युवाओं की भर्ती अग्निपथ योजना से ही होगी। हालांकि मिलीट्री पुलिस में महिला सिपाही की भर्ती की प्रक्रिया में अभी तक कोई बदलाव नहीं किया गया है। बताया कि अग्निपथ योजना पुरूष व महिला दोनों के लिए है। आगे जरूसत के अनुसार महिलाओं के लिए अग्निवीर की भर्ती की जाएगी।

कहा कि अभी भी हर साल तीनों सेनाओं से 60-70 हजार जवान सेवानिवृत्त होते है। वह समाज की बेहतरी में अपना योगदान दे रहे है। अग्निवीर भी अपनी दक्षता की बदौलत राष्ट्र निर्माण में मदद करेंगे।

उत्तराखंड