उत्तराखंड

HCL Foundation और अभिनव बिंद्रा फ़ाउंडेशन ट्रस्ट ने जमीनी स्तर के होनहार युवा खिलाड़ियों की क्षमता को बाहर लाने के लिए साझेदारी की घोषणा 

Join our WhatsApp Group

HCL foundation और अभिनव बिंद्रा फ़ाउंडेशन ट्रस्ट ने जमीनी स्तर के होनहार युवा खिलाड़ियों की क्षमता को बाहर लाने के लिए साझेदारी की घोषणा 

देहरादून- भारत में एचसीएल-टेक की कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) के एजेंडे को अमल में लाने वाली शाखा, एचसीएल फ़ाउंडेशन और अभिनव बिंद्रा फ़ाउंडेशन ट्रस्ट (एबीएफटी) ने पूरे भारत में वंचित समुदायों के होनहार युवा खिलाड़ियों की पहचान करने और उन्हें अत्याधुनिक प्रशिक्षण सुविधाएँ उपलब्ध कराने के लिए साझेदारी की घोषणा की है, ताकि उन्हें राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में बराबरी का मुकाबला करने के लिए तैयार किया जा सके।

एचसीएल फ़ाउंडेशन और एबीएफटी ने इस साझेदारी के तहत 10 से 16 साल की उम्र के 45 खिलाड़ियों का चयन किया है। ये सभी एथलीट अलग-अलग खेलों का प्रतिनिधित्व करते हैं, जिनमें फुटबॉल, एथलेटिक्स, बास्केटबॉल, कबड्डी, क्रिकेट, रग्बी, मुक्केबाजी और वॉलीबॉल शामिल हैं। इनमें से, 10 सबसे ज्यादा प्रतिभाशाली एथलीटों को एबीएफटी के एक साल के STEAM (विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग, एनालिटिक्स, मेडिसिन) कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा।

इन एथलीटों को बेंगलुरु तथा दिल्ली में स्थित एबीएफटी के केंद्रों में अव्वल दर्जे के प्रदर्शन एवं विकास के लिए कोचों की निगरानी में प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस कार्यक्रम में फिजियोथेरेपी, मानसिक सेहत, चोट से उबरना, स्वास्थ्य-लाभ, सामर्थ्य और कंडीशनिंग शामिल है। शेष 35 एथलीटों को एबीएफटी के वैज्ञानिक मूल्यांकन कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा, जिसमें एथलीटों और कोचों के लिए प्रशिक्षण योजना को उनकी आवश्यकता के अनुरूप बनाया जाता है।

यह भी पढ़ें 👉  उपलब्धि : देहरादून स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने जीता Skoch Award 2024, जल प्रबंधन प्रणाली हेतु दिया गया अवार्ड

एबीएफटी की टीम की ओर से प्रशिक्षकों के लिए मूल्यांकन की अहमियत, प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की पहचान के लिए डेटा के उपयोग के साथ-साथ एथलीटों के लिए चोट से उबरने और पोषण के महत्व पर नियमित रूप से क्षमता-निर्माण सत्र का आयोजन किया जाएगा।

एचसीएल फ़ाउंडेशन ने अपनी ‘स्पोर्ट्स फॉर चेंज’ पहल के तहत एबीएफटी के साथ साझेदारी की है, जिसमें वंचित समुदायों के बच्चों एवं युवाओं की संतुलित भागीदारी, बेहतरीन प्रदर्शन और समग्र विकास पर विशेष ध्यान दिया जाता है। आज तक, 27,000 से अधिक बच्चों एवं युवा खिलाड़ियों को इस कार्यक्रम से लाभ मिल चुका है।

फ़ाउंडेशन की इस पहल के माध्यम से सहायता पाने वाले 13 खिलाड़ियों ने अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भारत का प्रतिनिधित्व किया है, जबकि 42 अन्य खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में भाग लिया। एचसीएल फ़ाउंडेशन स्पोर्ट्स स्कॉलर, जेरलिन अनिका को बैडमिंटन में अपनी उपलब्धियों के लिए साल 2022 में अर्जुन पुरस्कार मिला, जो यह पुरस्कार पाने वाली भारत की पहली महिला डेफ्लिम्पियन बनीं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई पीसीएस–प्री की परीक्षा (PCS-Pre exam)

जेरलिन ने साल 2022 में ब्राजील में आयोजित डेफ्लिम्पिक्स में भारत का प्रतिनिधित्व किया और तीन स्वर्ण पदक जीते। उन्होंने थाईलैंड में एशिया पैसिफिक यूथ बैडमिंटन चैंपियनशिप और एशिया पैसिफिक डेफ बैडमिंटन चैंपियनशिप में भी छह स्वर्ण पदक जीते।

ओलंपिक चैंपियन और अभिनव बिंद्रा फ़ाउंडेशन ट्रस्ट संस्थापक, अभिनव बिंद्रा व्यक्तिगत ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय हैं। इस अवसर पर उन्होंने कहा, “हम भारत में खेलकूद के परिवेश को मजबूत बनाने के लिए शुरू की गई इस अभूतपूर्व पहल में एचसीएल फ़ाउंडेशन के साथ साझेदारी करके बेहद उत्साहित महसूस कर रहे हैं।

हम एथलीटों के विकास और सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए एक स्थायी पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करना चाहते हैं, जो उन्हें खेल में उच्चतम स्तर की सफलता हासिल करने में सक्षम बना सके। सभी को शामिल करने के नजरिए से शुरू किए गए इस कार्यक्रम में समाज के कमजोर तबके के एथलीटों पर विशेष ध्यान दिया जाता है, जिसके तहत समग्र प्रशिक्षण और विकास के लिए वैज्ञानिक तरीके से तैयार किए गए कार्यक्रम को सभी के लिए किफायती और सुलभ बनाया गया है।”

यह भी पढ़ें 👉  गुड़ न्यूज :''नंदा गौरा योजना'' के पात्र लाभार्थियों के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू, जल्द करें आवेदन

डॉ. निधि पुंढीर, वाइस प्रेसिडेंट, ग्लोबल सीएसआर, एचसीएल फ़ाउंडेशन, ने कहा, “अभिनव बिंद्रा फ़ाउंडेशन ट्रस्ट के साथ हमारी इस साझेदारी से युवाओं को अपनी पूरी क्षमता को बाहर लाने के लिए जरूरी संसाधन और मार्गदर्शन उपलब्ध होगा। हम शीर्ष स्तर के अंतर्राष्ट्रीय एथलीट तैयार करने के उद्देश्य से एक ओलंपिक विकास कार्यक्रम स्थापित करना चाहते हैं, जिसके लिए हमने दुनिया भर में अपनाए गए सबसे बेहतर तरीकों में अव्वल दर्जे के प्रदर्शन के लिए प्रशिक्षण और टेक्नोलॉजी की मदद से वैज्ञानिक तरीके से मूल्यांकन को एकजुट किया है।

यह सहयोग खेल-कूद के विकास के प्रति हमारी सच्ची लगन और खेल-कूद के जरिए बदलाव लाने की संभावनाओं पर हमारे अटल विश्वास को दर्शाता है।”

"सूचीबद्ध न्यूज़ पोर्टल"

सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, देहरादून द्वारा सूचीबद्ध न्यूज़ पोर्टल "इंफो उत्तराखंड" (infouttarakhand.com) का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड सत्य की कसौटी पर शत-प्रतिशत खरा उतरना है। इसके अलावा प्रमाणिक खबरों से अपने पाठकों को रुबरु कराने का प्रयास है।

About

“इन्फो उत्तराखंड” (infouttarakhand.com) प्रदेश में अपने पाठकों के बीच सर्वाधिक विश्वसनीय न्यूज पोर्टल है। इसमें उत्तराखंड से लेकर प्रदेश की हर एक छोटी- बड़ी खबरें प्रकाशित कर प्रसारित की जाती है।

आज के दौर में प्रौद्योगिकी का समाज और राष्ट्र के हित में सदुपयोग सुनिश्चित करना भी आपने आप में चुनौती बन रहा है। लोग “फेक न्यूज” को हथियार बनाकर विरोधियों की इज्ज़त, और सामाजिक प्रतिष्ठा को धूमिल करने के प्रयास लगातार कर रहे हैं। हालांकि यही लोग कंटेंट और फोटो- वीडियो को दुराग्रह से एडिट कर बल्क में प्रसारित कर दिए जाते हैं। हैकर्स बैंक एकाउंट और सोशल एकाउंट में लगातार सेंध लगा रहे हैं।

“इंफो उत्तराखंड” (infouttarakhand.com) इस संकल्प के साथ सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर उतर रहा है, कि बिना किसी दुराग्रह के लोगों तक सटीक जानकारी और समाचार आदि संप्रेषित किए जाएं। ताकि समाज और राष्ट्र के प्रति जिम्मेदारी को समझते हुए हम अपने उद्देश्य की ओर आगे बढ़ सकें। यदि आप भी “इन्फो उत्तराखंड” (infouttarakhand.com) के व्हाट्सऐप व ईमेल के माध्यम से जुड़ना चाहते हैं, तो संपर्क कर सकते हैं।

Contact Info

INFO UTTARAKHAND
Editor: Neeraj Pal
Email: [email protected]
Phone: 9368826960
Address: I Block – 291, Nehru Colony Dehradun
Website: www.infouttarakhand.com

To Top