Budget 2022 : आम बजट में खेती-किसानी के लिए की कई अहम घोषणाएं। गंगा किनारे जैविक खेती से आत्मनिर्भर होंगे किसान

Budget 2022 : आम बजट में खेती-किसानी के लिए की कई अहम घोषणाएं। गंगा किनारे जैविक खेती से आत्मनिर्भर होंगे किसान

हरिद्वार/इन्फो उत्तराखंड

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज आम बजट में खेती-किसानी के लिए कई अहम घोषणाएं की हैं। जिसमें हरिद्वार के क्षेत्रीय किसानों के मुताबिक योजनाएं अच्छी और दीर्घकालिक हैं। गंगा किनारे जैविक खेती को बढ़ावा मिलने से किसान आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होंगे। वहीं जानकारी के मुताबिक हरिद्वार जिले के घाड़ क्षेत्र में गंगा किनारे काफी अधिक खेती होती है। जैविक खेती को प्रोत्साहन मिलने से किसान कम लागत में अधिक मुनाफा कमा सकेंगे।

सरकार को योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन करना चाहिए। सरकार की कई योजनाएं कागजों में दम तोड़ देती हैं। लेकिन किसानों को उनका लाभ तक नहीं मिल पाता था। लेकिन अब  किसानों का कहना है कि ये योजनाएं किसानों के लिए तभी फायदेमंद होगी जब उन्हें पारदर्शिता से क्रियान्वित किया जाए।

वर्ष 2023 को मोटा अनाज वर्ष घोषित करना सराहनीय कदम है। 163 लाख किसानों से 1208 मीट्रिक टन गेहूं और धान खरीदने की योजना है। इसका सीधा लाभ हरिद्वार के किसानों को मिलेगा। क्षेत्र में बड़ी संख्या में गेहूं और धान की खेती होती है। सरकारी खरीद की व्यवस्था सही नहीं होने से किसान नुकसान झेलते हैं। सरकारी खरीद केंद्रों पर तरह-तरह के बहाने बनाकर किसानों को टरका दिया जाता है। इस व्यवस्था को सही किए जाने की बहुत जरूरत है।

-राकेश चौधरी, हजारा ग्रंट 

उत्तराखंड