ब्रेकिंग : विभागीय मंत्री ने अधिकारियों से वाहन छीने जाने की खबरों का लिया संज्ञान। महानिदेशक सहित निदेशक माध्यमिक एवं प्राथमिक शिक्षा को किया तलब

ब्रेकिंग : विभागीय मंत्री ने अधिकारियों से वाहन छीने जाने की खबरों का लिया संज्ञान। महानिदेशक सहित निदेशक माध्यमिक एवं प्राथमिक शिक्षा को किया तलब

सभी अधिकृत अधिकारियों को मिलेगी वाहन सुविधाः डॉ0 धन सिंह रावत

 

देहरादून/इंफो उत्तराखंड

विभिन्न समाचार पत्रों एवं सोशल मीडिया पर शिक्षा विभाग के जनपद स्तरीय अधिकारियों से वाहन छीने जाने की ख़बरों का संज्ञान लेते हुए सूबे के विद्यालयी शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने विभागीय उच्चाधिकारियों से जवाब तलब किया है। विभागीय मंत्री ने स्पष्ट किया कि विभाग के अंतर्गत उन सभी जनपद स्तरीय अधिकारियों को वाहन की सुविधा मिलेगी जो इसके लिए आधिकारिक तौर पर अधिकृत हैं।

 

 

सूबे के विद्यालयी शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने विभिन्न समाचार पत्रों एवं सोशल मीडिया रिपोर्टों में प्रकाशित शिक्षा विभाग में जनपद स्तरीय अधिकरियों से वाहन छीने जाने की ख़बरों का संज्ञान लिया। उन्होंने इस प्रकरण पर मीडिया को जारी एक बयान में कहा कि विभाग के अंतर्गत उन सभी जनपद स्तरीय अधिकारियों को वाहन की सहूलियत दी जायेगी जो इस सुविधा के लिए आधिकारिक तौर पर अधिकृत हैं।

 

 

उन्होंने कहा कि राज्य की विषम भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए जनपद स्तरीय अधिकारियों को वाहन सुविधा दिया जाना जरूरी है, ताकि अधिकारी विभागीय क्रियाकलाप सहित दुर्गम क्षेत्रों के स्कूलों का निरीक्षण आसानी से कर सके। डॉ0 रावत ने इस प्रकरण में महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा सहित निदेशक माध्यमिक शिक्षा एवं निदेशक बेसिक शिक्षा को तलब करते हुए तत्काल स्थिति स्पष्ट करने के निर्देश दिये हैं।

 

 

उन्होंने कहा कि निदेशालय स्तर पर प्रकरण का शीघ्र निस्तारण कर वाहन सुविधा हेतु जनपद स्तर पर अधिकृत अधिकारियों को वाहन उपलब्ध कराने के लिए विभागीय अधिकारियों को कह दिया गया है। डॉ0 रावत ने बताया कि विभाग में वाहनों की उपलब्धता का विवरण प्रस्तुत करने के निर्देश महानिदेशक शिक्षा को दे दिए गये हैं, वाहनों की उपलब्धता को लेकर जो भी स्थिति होगी उसके अनुसार आगे की कार्यवाही तय की जायेगी, यदि विभाग में वाहनों की कमी पाई जाती है तो इसके लिये बजट की व्यवस्था की जायेगी ताकि विभाग के जिला स्तरीय अधिकारियों को वाहन उपलब्ध कराये जा सकें।

उत्तराखंड