UKSSSC पेपर लीक मामला : भर्ती घोटाले में रामनगर का एनजीओ संचालक गिरफ्तार, अब तक हो चुकी 21 वीं गिरफ्तारी

UKSSSC पेपर लीक मामला : भर्ती घोटाले में रामनगर का एनजीओ संचालक गिरफ्तार, अब तक हो चुकी 21 वीं गिरफ्तारी

देहरादून/ इंफो उत्तराखंड 

उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग द्वारा वीडियो वीपीडीओ भर्ती परीक्षा परिणाम में प्रश्नपत्र लीक मामले में की जा रही विवेचना के क्रम में एसटीएफ द्वारा पूर्व में कुल 20 अभियुक्तों को पूर्व में गिरफ्तार किया जा चुका है ।।

एसटीएफ टीम संदिग्ध चयनित परीक्षार्थियों से पूछताछ कर बयान अंकित कर रही है जिसके क्रम में कुछ अभ्यर्थियों द्वारा बयान दिया गया कि उनको रामनगर निवासी चंदन मनराल द्वारा परीक्षा से एक दिन पहले धामपुर ले जाकर एक घर पर प्रश्न पत्र याद करवाया गया था।

उक्त बिंदु पर विवेचना की गई तो यह तथ्य प्रकाश में आया कि चंदन सिंह मनराल निवासी रामनगर पूर्व में गिरफ्तार अभियुक्तों के सम्पर्क में है,औ कई को प्रश्नपत्र उपलब्ध करवा चुका है।

एसटीएफ टीम द्वारा उक्त चंदन मनराल को पूछताछ हेतु एसटीएफ कार्यालय लाया गया जहां पर विस्तृत पूछताछ की गई एवं पूछताछ करने के बाद पर्याप्त साक्ष्यों के आधार पर अभियुक्त चंदन मनराल को गिरफ्तार कर लिया गया है।

गिरफ्तार अभियुक्त का नाम

चंदन सिंह मनराल पुत्र झगड़ सिंह मनराल निवासी लखनपुर रामनगर उम्र करीब 63 वर्ष।

अभियुक्त चंदन मनराल से एसटीएफ कार्यालय में विस्तृत पूछताछ की गई जिसने पूछताछ में बताया कि वह अन्य अभियुक्तों से पिछले कुछ सालों से संपर्क में है और वर्ष 2021 में आयोजित VDO भर्ती परीक्षा में अपने क्षेत्र के कई लोगों को लाखों रुपए लेकर प्रश्न पत्र उपलब्ध करवाया है

अभियुक्त से की गई पूछताछ में अभियक्त द्वारा अर्जित करोड़ों की संपत्ति की जानकारी प्राप्त हुई है

अर्जित संपत्ति

1 करीब 15 एकड़ जमीन पीरुमदार में
2 करीब 10 बीघा खेती की भूमि रामनगर मैं
3 मनराल स्टोन क्रेशर के नाम से एक स्टोन क्रेशर पीरुमदार में जिसमें करीब सात बड़े ट्रक एवं तीन पोकलैंड
4 मनराल ट्रैवल्स एजेंसी जिसमें करीब 13 बस जिनमें से 10 बस स्कूलों में एवं तीन बस पहाड़ में चलती है
5 बाल महिला कल्याण समिति नाम से एनजीओ
6 रामनगर नैनीताल में 3 मंजिला मकान व ऑफिस एवं आधा बीघा मुख्य सड़क पर कमर्शियल प्लाट
7 आधा दर्जन से अधिक बैंक खाते

उत्तराखंड