अच्छी खबर : अल्मोड़ा में जनपद स्तरीय खेल महाकुम्भ (Khel Mahakumbh) का रेखा आर्य ने किया शुभारंभ, कहा 21 से 30 नवम्बर तक चलेगा खेल महाकुम्भ, आयोजित की जाएंगी कई प्रतिस्पर्धाएं

अच्छी खबर : अल्मोड़ा में जनपद स्तरीय खेल महाकुम्भ (Khel Mahakumbh) का रेखा आर्य ने किया शुभारंभ, कहा 21 से 30 नवम्बर तक चलेगा खेल महाकुम्भ, आयोजित की जाएंगी कई प्रतिस्पर्धाएं

खेल मंत्री रेखा आर्य ने खिलाड़ियों में भरा जोश कहा कि अभावों में हुआ संघर्ष, प्रतिभा को और मजबूत और बनाता है सुदृढ़

शिक्षा के साथ बहुआयामी विकास के लिए खेल व कला की होती है महत्वपूर्ण भूमिका-रेखा आर्य

अल्मोड़ा/ इंफो उत्तराखंड 

अभावों में हुआ संघर्ष, प्रतिभा को और मजबूत और सुदृढ़ बनाता है साथ ही शिक्षा के साथ बहुआयामी विकास के लिए खेल व कला की महत्वपूर्ण भूमिका होती है उक्त बाते आज प्रदेश की खेल एवं युवा कल्याण मंत्री रेखा आर्य ने अल्मोड़ा के हेमवती नंदन बहुगुणा स्पोर्ट्स स्टेडियम में जनपद स्तरीय खेल महाकुंभ शुभारंभ कार्यक्रम के दौरान कहीं। जहाँ खेल मंत्री ने मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की।

कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया।कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि का स्वागत अंगवस्त्र एवं स्मृति चिन्ह देकर किया गया,तत्पश्चात अलग -अलग ब्लॉकों से आए हुए खिलाड़ियों को खेल मंत्री द्वारा खेल भावना के साथ खेलने की शपथ दिलाई गई।

इस दौरान पहले चरण में 800 मीटर दौड़ आयोजित हुई जिसमें प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों को सम्मानित किया गया। खेल मंत्री रेखा आर्या ने खिलाड़ियों से कहा कि अभावों में हुआ संघर्ष, प्रतिभा को और मजबूत और सुदृढ़ बनाता है अतः सभी खिलाडी अभावो से ना डरें बल्कि अपनी प्रतिभा को अत्यधिक मजबूती प्रदान करें।हमारी सरकार खिलाड़ियों को हर संभव मदद के लिए सदैव तत्पर है जिसके लिए सरकार व विभाग लगातार प्रयासरत है।

कहा कि स्कूली वर्ष मे केवल शिक्षा ही नही बल्कि शिक्षा के साथ बहुआयामी विकास के लिए खेल और कला की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। खेल से केवल स्वस्थ शरीर ही नही बल्कि सेहत के साथ आपके चरित्र का भी निर्माण होता है।

खेल हमे अनुशासित रहना सिखाता है, क्योकि खेल को खेलने एवं खेल में बने रहने के लिए अनुशासन की बहुत ही आवश्यकता होती है।अनुशासन ही है, जो व्यक्ति इसे अपने जीवन में ढाल लेता है वो आगे चलकर जीवन के संघर्ष मे हमेशा विजयी होता है।

उन्होने बच्चो का उत्साहवर्घन करते हुए कहा कि आज जिस स्प्रिट से इस आयोजन में आपने अपने-अपने कला/प्रतिभा का प्रदर्शन किया है वो प्रशंसनीय है और आगे चलकर आप सिर्फ जिला ही नही बल्कि पूरे प्रदेश मे सबसे बेहतर प्रदर्शन कर प्रथम स्थान पर रहे, यही कामना है।

केंद्र सरकार खेल को आगे बढ़ाने के लिए व खिलाड़ियों को विशेष तौर पर सुविधाएं प्रदान करने पर सबसे सफल काम कर रही है।उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार और प्रदेश की धामी सरकार खेल और खिलाड़ियों की भावनाओं की कद्र करती हैं। खिलाड़ियों की राह में किसी भी प्रकार की कोई भी बाधा या रोड़ा नहीं आने दिया जाएगा।

उन्होंने गरीब व मध्यम वर्ग के युवाओं के लगन और जोश की तारीफ करते हुए कहा कि ऐसे माहौल में पले-बढ़े बच्चों में खेलों के प्रति विशेष जज्बा दिखाई देता है और वह देश के लिए मेडल जीतने का हरदम सपना देखता है।

युवाओं को प्रोत्साहित करते हुए खेलमंत्री ने कहा कि ओलंपिक जैसी स्पर्धा में मेडल जीतने के लिए 10-12 सालों की कड़ी मेहनत करनी होती है। उन्होंने खिलाड़ियों से मेहनत और लगन करके देश का नाम रोशन करने का आह्वाहन किया।

खेल मंत्री ने जनपद अल्मोड़ा के सभी प्रतिभावान व मेहनतकश युवाओं, खिलाड़ियों को उनके क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने हेतु अपनी शुभकामनाएं दी। बताते चले कि अल्मोड़ा में आयोजित यह जिलास्तरीय खेल महाकुम्भ 21 नवम्बर से 30 नवम्बर तक चलेगा जिसमें अलग -अलग खेल आयोजित किए जाएंगे।

इस अवसर पर जिलाध्यक्ष अल्मोड़ा रमेश बहुगुणा जी,मुख्य विकास अधिकारी अंशुल सिंह, अपर जिलाधिकारी चंद्र सिंह मर्तोलिया, जिला क्रीड़ा अधिकारी अरुण बगयाल, जिला कार्यक्रम अधिकारी पीताम्बर प्रसाद, जिला युवा कल्याण अधिकारी प्रशांत कुमार, तहसीलदार सदर अल्मोड़ा कुलदीप पाण्डेय, विधायक प्रतिनिधि भुवन जोशी, जिला अध्यक्ष किसान मोर्चा हरीश कनवाल, जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि भूपाल मेहरा, दुग्ध संघ प्रतिनिधि महेंद्र बिष्ट, क्षेत्र पंचायत सदस्य भरत भाकुनी सहित अधिकारीगण एवं खिलाडी उपस्थित रहे।

खेल