उत्तराखंड

ब्रेकिंग न्यूज : उत्तराखंड राज्य में भविष्य में नियुक्त होने वाले कार्मिकों के पदोन्नति के पदों पर वेतनमान को लेकर बड़ा आदेश, पढ़े पूरी खबर 

Ad

देहरादून/इंफो उत्तराखंड 

उत्तराखण्ड राज्य कर्मचारियों एवं अन्य सरकारी प्रतिष्ठानों के कार्मिकों की विभिन्न मांगों व वेतन विसंगति के लम्बित प्रकरणों के मामलों को लेकर आदेश जारी हो गया है।

जारी किए गए आदेश में उत्तराखण्ड राज्य कर्मचारियों एवं अन्य सरकारी प्रतिष्ठानों के कार्मिकों की विभिन्न मांगों व वेतन विसंगति के लम्बित प्रकरणों के निस्तारण हेतु अगस्त, 2021 में गठित वेतन विसंगति समिति द्वारा दिये गये प्रतिवेदन में यह संस्तुति की गयी है, कि राज्य द्वारा वेतन/भत्तों के निर्धारण हेतु केंन्द्र सरकार से समता का सिद्धान्त स्वीकार किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  7th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों को होली से पहले मिलेगी खुशखबरी, जानिए कितना बढ़ सकता है DA

किन्तु विभिन्न कार्मिक संवर्गों द्वारा की गयी मांगों के क्रम में विगत वर्षों में राज्य सरकार द्वारा लिये गये निर्णयों ने विभिन्न कार्मिक संवर्गों के मध्य अन्तर्सवर्गीय संतुलन को प्रभावित किया है। अतः अन्तर्सवर्गीय संतुलन को बनाये रखने तथा राज्य के सीमित वित्तीय संसाधनों के दृष्टिगत राज्य में कार्मिकों को दिये जा रहे वेतन व भत्तों के निर्धारण के सम्बन्ध में पुनर्विचार किये जाने की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर : नीलकंठ मोटर मार्ग पर हाथी (Elephant) ने मचाया आंतक, अज्ञात युवक को पटक-पटकर मौत के घाट उतारा

राज्य सरकार के विभिन्न प्रशासकीय विभागों और उनके अधीन स्थापित के किसी भी संवर्ग में सीधी भर्ती, अनुकम्पा नियुक्ति जैसे किसी भी माध्यम से भविष्य में होने वाली भर्तियों/नियुक्तियों के लिए निर्धारित वेतनमान भारत सरकार में सम्बन्धित संवर्ग के लिए सातवें केन्द्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार अधिसूचित वेतनमान से अधिक नहीं होंगे।

यह भी पढ़ें 👉  ग्राम पंचायतों में आ रही समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन, शीघ्र ही मांगे पूरी न होने पर प्रधान संगठन ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी 

इस प्रकार भविष्य में नियुक्त होने वाले कार्मिकों के लिए अग्रेत्तर पदोन्नति के पदों का वेतनमान भी केन्द्र के समान ही होगा।

वर्तमान में कार्यरत कार्मिकों के लिये उपरोक्त संशोधित वेतनमान लागू नहीं होंगे, उनके वेतनमान आदि पूर्ववत् ही रहेंगे।

देखें आदेश :-

To Top