रुद्रप्रयाग : जिलाधिकारी मयूर दीक्षित व ब्लॉक प्रमुख प्रदीप थपलियाल ने किया आपदा प्रभावित गांवों का दौरा

रुद्रप्रयाग : जिलाधिकारी मयूर दीक्षित व ब्लॉक प्रमुख प्रदीप थपलियाल ने किया आपदा प्रभावित गांवों का दौरा

रुद्रप्रयाग/इंफो उत्तराखंड 

विकास खंड जखोली के लुठियाग, चिरबटियां, त्यूंखर, धनौली, घरड़ा, मखेत, महरगांव, बुढ़ाना, लौंगा, सकलाना, पैंयाताल, मरड़ीगाड, रतनगढ़ आदि स्थानों पर हुई मूसलाधार बारिश से लोगों के आवासीय भवनों, गौशाला, कृषि भूमि के साथ ही सड़क मार्ग, पेयजल लाइनें, रास्तों आदि की बहुत क्षति हुई है। लोगों की मकानों व क़ृषि भूमि को काफी नुकसान पहुंचा है।

जखोली प्रमुख प्रदीप थपलियाल जैसे ही सतनीखील पहुंचे तो सड़क मार्ग पर आवाजाही की स्थिति न होने पर प्रदीप थपलियाल ने जिलाधिकारी मयूर दीक्षित को दूरभाष पर अवगत कराते हुए अभिलम्ब सम्बंधित विभागीय अधिकारियों के साथ नुकसान का जायजा लेने के लिए क्षेत्र में पहुंचने को कहा गया।

जिलाधिकारी मयूर दीक्षित अधिकारियों के साथ सीमांत क्षेत्र लुठियाग/चिरबटियां पहुंचे। मूसलाधार बारिश के कारण क्षेत्र में आवासीय भवन एवं कृषि भूमि को हुए नुकसान का मौके पर निरीक्षण कर प्रभावित लोगों से मुलाकात कर उनकी समस्याओं को सुना।

ग्रामीणों के नुकसान का आंकलन कर उचित मुआवजा देने को कहा। उन्होंने सभी अधिकारियों को त्वरित कार्रवाई कर आपदा क्षेत्र का सर्वे करने, सभी प्रभावित परिवारों को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट करने एवं मुआवजा वितरित करने के निर्देश दिए हैं।

जिलाधिकारी के साथ ही उप जिलाधिकारी जखोली परमानन्द राम , तहसीलदार राम किशोर ध्यानी सहित लोनिवि के अधिशासी अभियंता जेएस रावत व अन्य अधिकारियों के साथ आपदाग्रस्त क्षेत्र चिरबटिया लुठियाग का मौके पर निरीक्षण कर स्थिति का जायजा लिया।

जिलाधिकारी ने बारिश एवं भूस्खलन से क्षतिग्रस्त हुए गांवों के रास्तों को मनरेगा के तहत मरम्मत करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने प्रभावित गांवों में विद्युत एवं पेयजल लाइनों को भी जो नुकसान हुआ है उन्हें जल्द से जल्द ठीक करने को कहा है।

उन्होंने काश्तकारों की कृषि भूमि, आवासीय भवन एवं फसलों को हुए नुकसान का तत्काल सर्वे करवाते हुए बिना देरी के प्रभावितों को उचित मुआवजा उपलब्ध कराये जाने के भी निर्देश दिए हैं। वहीं चिरबटिया लुठियाग के विजय पाल सिंह एवं बलदेव सिंह के मकान को हुए नुकसान को देखते हुए उन्हें सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने जिला भू वैज्ञानिक अधिकारी को आपदाग्रस्त क्षेत्र का भू गर्भीय निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने मखेत में क्षतिग्रस्त पुलिया का निर्माण त्वरित कार्रवाई से करने के निर्देश दिए, ताकि ग्रामीणों की आवाजाही में कोई समस्या न हो।

जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि आपदाग्रस्त क्षेत्रों का त्वरित सर्वे करवाने के लिए अन्य तहसीलों के पटवारियों एवं लेखपालो की भी मदद के लिए बुलाया जाए, ताकि सर्वे जल्दी पूरा हो सके। ब्लाक प्रमुख प्रदीप थपलियाल ने सभी विभागीय अधिकारियों से कहा कि इस बात का पूरा ध्यान रखा जाए कि कोई भी परिवार सर्वे से वंचित न रह जाए।

हिल न्यूज़