अच्छी पहल : अजय पंवार जैसे युवा राज्य के युवाओं के लिए है, प्रेरणा स्रोत : गणेश जोशी

अच्छी पहल : अजय पंवार जैसे युवा राज्य के युवाओं के लिए है, प्रेरणा स्रोत : गणेश जोशी

राज्य के 06 जनपदों के लगभग 4000 किसानों को बेहतर आय दिलवा रहे हैं अजय पंवार।

देहरादून/इंफो उत्तराखंड

रोजमैरी, लैवेंडर, डंडेलियोंन, थाइम, निपिता आदि सगंध एवं औषधीय पादपों से निर्मित, इसेंसियल ऑईल, हर्बल टी, तथा अन्य जैविक व स्वास्थ्य संवर्द्धक उत्पादों के चकराता रोड़ स्थित स्टोर ‘‘कृषि, कृषक कल्याण’’ (3 के) का शुभारम्भ आज कृषि मंत्री गणेश जोशी द्वारा किया गया।

स्टोर के संचालक अजय पंवार टिहरी जनपद के धार पाइयांकोटि के रहने वाले हैं और पिछले 6 सालों से सगंध एवं औषधीय पादपों की खेती कर रहे हैं।

इस अवसर पर कृषि मंत्री ने बताया कि प्रदेश में जड़ी बूटी उत्पादन की अपार सम्भानायें हैं। अजय पंवार जैसे युवा उद्यमी राज्य के किसानों तथा युवाओं के लिए एक मिशाल पेश कर रहे हैं। जो अपने दशकों से बंजर पड़े खेतों को जड़ी बूटी एवं सगंध एवं औषधीय पादपों की खेती से आबाद कर अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं।

इन्होंने अपने क्षेत्र के कई किसानों को इस आधुनिक खेती से जोड़कर उनको रोजगार उपलब्ध करवाया है। अजय और उनकी टीम किसानों को इन फसलों की बुआई से लेकर विपणन तक के सभी चरणों में आवश्यक प्रशिक्षण तथा अन्य तकनीकी सहयोग भी प्रदान कर रही है।

इन औषधीय पादपां की जड़, पत्ते तथा फूल तक सभी की बाजार में भारी मांग है। इन लाभकारी पादपों से बनाए गए इसेंशिअल ऑईल तथा हर्बल टी को अजय और उनकी टीम भारत देश तथा विदेशों तक पहुंचा रहे हैं।

कृषि मंत्री ने अजय पंवार को शुभकामनाएं दी तथा उम्मीद की कि उनकी टीम राज्य के किसानों को उत्पादन से विपणन तक एण्ड – टू – एण्ड साल्युशन उपलब्ध करवाएंगी। उन्होंने ऐसे युवा उद्यमियों जो कि राज्य के व्यापक किसानों को रोजगार भी उपलब्ध करवा रहे हैं तथा पलायन की समस्या को भी संबोधित कर रहे हैं। सरकार की ओर से हर संभव सहयोग एवं सहायता का आश्वाशन दिया।

अजय पंवार ने बताया की प्रदेश के विभिन्न जनपदों में उत्पादित होने वाले सगंध एवं औषधीय उत्पादों को इस स्टोर के माध्यम से विपणन किया जायेगा। जिससे किसानों को अच्छी आमदनी मिल सके। वर्तमान में हम टिहरी जनपद के विकासखंड कीर्तिनगर, देवप्रयाग, थौलधार, नरेंद्रनगर, जाखणीधार, भिलंगना, प्रतापनगर के सैकड़ों किसानों की इससे जोड़ा है।

इसके अलावा उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, पौड़ी, चमोली, बागेश्वर जनपदों के किसानों के साथ भी सगंध एवं औषधीय पादपों की खेती कर रहे हैं। अजय पंवार ने बताया कि उनकी इस सफलता के पीछे उनके बड़े भाई महिपाल सिंह पंवार और धर्मपाल सिंह पंवार जी का बहुत बड़ा योगदान रहा है जिससे उनको और ऊर्जा मिलती है।

इस दौरान पूनम नौटियाल, आदित्य चौहान, मनोज लिंगवाल, आशुतोष कोठारी, अमित पंवार, आशीष जोशी, कैलाश बिष्ट, बृजेश भट्ट, देवेन्द्र सुड़ियाल, आशीष उनियाल, सचिन पंवार, आशीष राणा, विवेक राणा भी उपस्थित रहे।

उत्तराखंड