उत्तराखंड

ब्रेकिंग : श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में तैनात 8 संविदा कर्मचारियों को किया निलंबित (Suspended), जबकि 7 कर्मचारियों को सीएमओ ऑफिस अटैच

Ad

श्रीनगर/इंफो उत्तराखंड 

श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में वर्षवार नियमित नियुक्ति की मांग को लेकर कर रहे बहिष्कार 15 संविदा/एनएचएम (राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन) नर्सिंग कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की गई है, जिसमें से 8 संविदा कर्मचारियों को निलंबित भी किया गया है।

जबकि एनएचएम के माध्यम से कॉलेज में अपनी सेवाएं दे रहे सात कर्मचारियों को सीएमओ (मुख्य चिकित्सा अधिकारी) ऑफिस अटैच किया गया है।

मेडिकल कॉलेज में तैनात संविदा एवं एनएचएम नर्सिंग कर्मचारी, संविदा एवं बेरोजगार स्टाफ नर्स महासंघ के आह्वान पर 27 जुलाई से कार्य बहिष्कार कर रहा था। वहीं आंदोलन के संबंध में उन्होंने 25 जुलाई को कॉलेज प्रशासन को इस संबंध में पत्र भी दिया था।

यह भी पढ़ें 👉  "परीक्षा पर चर्चा" कार्यक्रम में ब्लॉक प्रमुख महेन्द्र राणा (Mahendra Rana) ने किया प्रतिभाग, छात्र-छात्राओं को दिया ये मूल मंत्र

जिसके बाद कॉलेज प्रशासन ने आदेश जारी करते हुए कार्य बहिष्कार/धरना-प्रदर्शन पर रोक लगा दी थी। आपदा, महामारी और तृतीय संदर्भण इकाई का हवाला देते हुए संबंधित कर्मचारियों से ऐसा कदम न उठाने की अपील भी की गई थी, कि जिससे जांच, इलाज व स्वास्थ्य सेवा प्रभावित हो।

यह भी पढ़ें 👉  Tripura Elections 2023 : भाजपा ने 48 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट की जारी, देखें पूरी लिस्ट 

वहीं आदेश न मानने पर संबंधितों के खिलाफ आपदा अधिनियम और वैश्विक महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई थी। लेकिन वहीं आदेश न मानने वाले 15 नर्सिंग कर्मचारी कार्य बहिष्कार पर चले गए।

कॉलेज के प्राचार्य प्रो. सीएम रावत ने बताया कि शासन में वर्तमान में हड़ताल और प्रदर्शन जैसे कार्यक्रमों पर रोक लगाई गई थी। जिसके बावजूद भी कर्मचारियों ने आदेश को नहीं माना और हड़ताल पर चले गए।

यह भी पढ़ें 👉  दर्दनाक हादसा : पौड़ी- कोटद्वार राष्ट्रीय राजमार्ग पर जखेठी पीपली पानी के पास वाहन दुर्घटनाग्रस्त, दो की मौत, दो अन्य घायल 

जिसके बाद 8 संविदा नर्सिंग कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है, जबकि सीएमओ के माध्यम से कॉलेज में नियुक्त साथ एनएचएम कर्मचारियों को वापस भेज दिया गया है।

Ad
Ad
To Top