…..तो आयुर्वेद विवि में विजिलेंस को खुद क्यों निकालने पड़ रहे दस्तावेज, अधिकारी व कर्मचारी नहीं करा रहे हैं दस्तावेज मुहैया

…..तो आयुर्वेद विवि में विजिलेंस को खुद क्यों निकालने पड़ रहे दस्तावेज, अधिकारी व कर्मचारी नहीं करा रहे हैं दस्तावेज मुहैया

देहरादून/इंफो उत्तराखंड 

उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय में धांधली की जांच में विजिलेंस को खुद ही वहां की अलमारियां खंगालनी पड़ रही हैं। उनके कहने पर भी अधिकारी दस्तावेज मुहैया तक कराने को तैयार नहीं हैं।

ऐसे में विजिलेंस वहां से खुद ही दस्तावेज उठाकर कब्जे में ले रही है। इसके अलावा शनिवार को वहां पर कई अनुभागों में अधिकारियों और कर्मचारियों से पूछताछ भी की गई।

बता दें कि विजिलेंस आयुर्वेद विवि में कई प्रकार की अनियमितताओं की जांच कर रही है। इसमें विवि के लिए सामग्री खरीद, भर्ती और वित्तीय अनियमितताएं शामिल हैं। यह सब मामले 2017 से 2021 के बीच के बताए जा रहे हैं।

विजिलेंस इन सब मामलों में खुली जांच कर रही है। इस संबंध में पहले विजिलेंस की टीमें अधिकारियों से पूछताछ भी कर चुकी है। हालांकि, अभी किसी मामले में विजिलेंस अंतिम फैसले तक नहीं पहुंची है।

शुक्रवार को विवि से कई अहम दस्तावेजों को कब्जे में लिया गया था। इसके बाद शनिवार को भी विजिलेंस की टीम विवि पहुंची थी। एएसपी रेनू लोहानी ने बताया कि विवि के अधिकारियों से कई बार दस्तावेज मांगे गए हैं, लेकिन बार-बार नोटिस भेजने पर भी उन्हें दस्तावेज मुहैया नहीं कराए गए।

अब टीम वहां पर पूछताछ के बाद संबंधित दस्तावेजों को अनुभाग से खुद ले रही है। उन्होंने बताया कि शनिवार को वहां से कई जांच से संबंधित दस्तावेजों को कब्जे में लिया गया है। इसके अलावा कई अधिकारियों और कर्मचारियों से पूछताछ भी की गई।

उत्तराखंड