उत्तराखंड

बदहाल : सड़कों के लिए दर-दर की ठोकरें खानें के बाद मजबूर हुए ग्रामीणों ने खुद तय किया सड़क बनाने का काम, मंत्री की घोषणा भी हुई फेल 

Ad

ऐसा कोई नेता नहीं जिसने हमें ठगा ना हो ” ग्राम मेलगढ़ ” जौनपुर टिहरी गढ़वाल

टिहरी/इंफो उत्तराखंड 

टिहरी जिले में धनोल्टी विधान सभा के नैनबाग तहसील के अंतर्गत आता है, ग्राम मेलगढ़ जहां आज तक रोड नही है। जिसके कारण ग्राम वासी पलायन के लिए मजबूर हो रहे है। आज देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, वहीं मेलगढ़ ग्रामवासी रोड के लिए तरस रहे है।

नेता हर बार गांवों वालों से वादा करके भूल जाते है, इस बार भी उसी प्रकार से हुआ है, जैसे आज से पहले हुआ करता था। नेता चुनाव के बाद बिल्कुल भूल जाते है।

यह भी पढ़ें 👉  ग्राम पंचायतों में आ रही समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन, शीघ्र ही मांगे पूरी न होने पर प्रधान संगठन ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी 

एक तरफ सरकार गांव के विकास की बात करती है वही दूसरी गांव आज भी विकास से कोसो दूर है। पहले की तरह इस बार भी नेता जीतने की बाद अपना वादा भूल गए। नेताओ के साथ उनके चमचे भी कहीं दूर दूर तक दिखाई नहीं दे रहे है।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग : BJP ने चार मोर्चा के जिला अध्यक्षों की घोषणा, इन्हें मिली नई कमान, देखें लिस्ट

इस बार गांव वालों ने अपने ही आप अपने लिए रास्ता बनाने की ठानी है, उनका मानना है कि कब तक सरकार का मुँह तकते रहेंगे। सरकार और सरकार की नुमाइंदो के लिए ये बहुत है, शर्मिंदगी की बात है।

बताते चलें कि धामी सरकार के लोक निर्माण विभाग जैसे अहम महकमों का नेतृत्व तेजतर्रार एवं अनुभवी कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज कर रहे है। ऐसे में उनके पास अहम महकमों की दयनीय स्थिति को सुधारने की न सिर्फ कड़ी चुनौती भी है। बल्कि एक सुनहरा अवसर भी है।

यह भी पढ़ें 👉  7th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों को होली से पहले मिलेगी खुशखबरी, जानिए कितना बढ़ सकता है DA

लेकिन अब देखना यह होगा कि इस तरह के ज्वलंत प्रकरणों का कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज कब तक संज्ञान लेते है, और इन महकमों को सुधारने केे लिए वे क्या-क्या कदम उठाते है ये देखना होगा।

इस तरह के मुद्दों को उठाने के लिए हमारे व्हाट्सएप नंबर 9368826960 पर व्हाट्सएप करें या Mail id- [email protected],पर फोटो सहित सेंड करें।

To Top