ब्रेकिंग : सूबे के हेल्थ एंड वैलनेस सेन्टरों में प्रत्येक माह 10 दिन चलेगी योगा क्लास : धन सिंह

ब्रेकिंग : सूबे के हेल्थ एंड वैलनेस सेन्टरों में प्रत्येक माह 10 दिन चलेगी योगा क्लास : धन सिंह

आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर की चौथी वर्षगांठ पर आयोजित किये गये योगा कार्यक्रम

फिट इंडिया, ईट राइट इंडिया कार्यक्रम के जरिये लोगों को पोषण एवं स्वच्छ खानपान के प्रति किया जागरूक

 

 

देहरादून/इंफो उत्तराखंड

 

केन्द्र सरकार के सहयोग से प्रदेशभर में संचालित आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वैलनेस सेंटरों पर प्रत्येक माह 10 दिन योगा क्लासों का संचालन किया जाएगा। इसके लिए प्रत्येक वैलनेस सेन्टरों पर योगा प्रशिक्षकों की तैनाती की गई है, जिन्हें 250 रूपये प्रति घंटे के हिसाब से भुगतान किया जायेगा।

 

 

आयुषमान भारत हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर की चौथी वर्षगांठ के अवसर पर राज्य के प्रत्येक वैलनेस सेन्टरों पर योग, शरीरिक व्यायाम, ईट राइट इंडिया कार्यक्रम का आयोजन कर आम जनमानस को पोषण एवं स्वच्छ खानपान के बारे में जागरूकता एवं परामर्श प्रदान किया गया।

 

 

 

सूबे चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डाॅ0 धन सिंह रावत ने आज देहरादून के बंजारावाला में आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर की चौथी वर्षगांठ के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि यह बात कही। आजादी का अमृत महोत्सव के बैनर तले आयोजित ‘योग एंव आरोग्य सत्र’ के शुभारम्भ पर ’डाॅ0 रावत ने कहा कि आम जनमानस को उनके घर के समीप स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध हो सके, इसके लिए राज्य सरकार राज्यभर में केन्द्र सरकार के सहयोग से आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स का संचालन कर रही है।

 

 

उन्होंने कहा कि इन हेल्थ एंड वैलनेस सेंटरों में प्रत्येक माह 10 दिन योगा क्लासों का संचालन किया जाएगा। इसके लिये सभी सेन्टरों में प्रशिक्षित योगा शिक्षकों की तैनाती की गई है, जिन्हें 250 रूपये प्रति घंटे के हिसाब से भुगतान किया जा रहा है। डाॅ0 रावत ने बताया कि राज्य में कुल 1464 हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर संचालित हो रहे हैं, जिसमें 1031 उपकेन्द्र, 38 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं 395 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर हेल्थ एवंड वैलनेस सेंटरों संचालन हो रहा है।

 

 

 

उन्होंने बताया कि हेल्थ एंड वैलनेस सेंटरों पर योग, शरीरिक व्यायाम, पोषण एवं स्वच्छ खानपान के बारे में जागरूकता एवं परामर्श प्रदान किया जाता है। विभागीय मंत्री ने कहा कि उपकेन्द्रों को हैल्थ एंड वैलनेस सेंटर के रूप में उच्चीकृत करने के उपरांत यहां पर प्रशिक्षित मिड लेवल हैल्थ प्रोवाईडर (एमएलएचपी) की तैनाती की गई।

 

 

जिसके द्वारा गर्भाशय, स्तन एवं मुंह के कैंसर की स्क्रीनिंग, उच्च रक्तचाप एवं डायबिटीज की जांच सहित अन्य रोगों से बचाव के बारे में परामर्श भी दिया जाता है। उन्होंने कहा कि वैलनेस सेंटरों में प्रसव पूर्व, प्रसव पश्चात टीकाकरण एवं परिवार नियोजन की सेवाएं भी प्रदान की जा रही है। डाॅ0 रावत ने कहा कि सूबे में स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करना सरकार की प्राथमिकताओं में है।

 

 

 

स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को अधिक सुदृढ़ एवं सुलभ बनाने के मध्यनज़र सरकार राज्य के प्रत्येक ब्लाॅक में वृहद स्वास्थ्य मेलों का आयोजन कर रही है जो कि 18 अप्रैल से 22 अप्रैल तक संचालित होंगे। इन स्वास्थ्य मेलों में चिकित्सकीय परामर्श एवं परीक्षण के अलावा प्रत्येक व्यक्ति का डिजीटल हेल्थ आईडी व पात्र लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनायें जायेंगे।

 

 

 

इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी देहरादून डॉ मनोज उप्रेती, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ सी.एस. रावत, प्रभारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रायपुर डॉ के.एस. रावत, स्टेट नोडल एन. सी.डी. डॉ फरीदुल्लजफ़र, एस.पी.एम.महेंद्र मौर्य, सी.एच.ओ ममता रावत सहित अन्य विभागीय अधिकारी/कर्मचारी एवं आम जनमानस उपस्थित रहा।

उत्तराखंड