नई पहल : अटल टिंकरिंग लैब विद्यार्थियों की वैज्ञानिक सोच में लाएगी नई क्रांति : ऋतु खंडूड़ी 

नई पहल : अटल टिंकरिंग लैब विद्यार्थियों की वैज्ञानिक सोच में लाएगी नई क्रांति : ऋतु खंडूड़ी 

कोटद्वार/इंफो उत्तराखंड 

छात्रों की रचनात्मक एवं सृजनात्मक प्रवृत्ति को प्रोत्साहित करने के लिए रविवार को कलालघाटी स्थित एमकेवीएन सीनियर सेकेंडरी स्कूल में अटल टिंकरिंग लैब के उद्घाटन समारोह का आयोजन किया गया।

लैब का उद्घाटन उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने विधिवत रिबन काटकर किया। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि टिंकरिंग लैब बनने से क्षेत्र के विद्यार्थियों में वैज्ञानिक सोच विकसित होगी।

बता दें कि अटल टिंकरिंग लैब भारत सरकार की ओर से देश की शिक्षा व्यवस्था में पेराडाइम शिफ्ट लाने के उद्देश्य से लांच की गई है। ताकि छात्र-छात्राओं को अविष्कार, नए विचार और वैज्ञानिक पहलुओं पर बढ़ावा दिया जा सके।

इस लैब के जरिए 3डी प्रिटिंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोटिक्स के नए तरीकों से छात्र छात्राओं को रूबरू होने का मौका मिलेगा।लैब के जरिए छात्र छात्राओं को प्राथमिक शिक्षा के दौरान ही तकनीक के आधुनिकतम प्रारूप से जुड़ने का मौका आसानी से मिल सके।

अटल टिंकरिंग लैब को स्थापित करने का सुझाव भारत के नीति आयोग ने केंद्र सरकार को दिया था। जिसके बाद इस लैब को देशभर के स्कूलों में पहुंचाने का काम किया जा रहा है। ताकि बच्चों को प्राथमिक शिक्षा के दौरान ही तकनीकी रूप से मजबूत किया जा सके।

अटल इनोवेशन मिशन के तहत कोटद्वार के एमकेवीएन सीनियर सेकेंडरी स्कूल में बच्चों के बीच नवाचार और एक उद्यमशीलता पारिस्थितिकी तंत्र को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से अटल टिंकरिंग लैब का उद्घाटन किया गया।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने लैब का निरीक्षण किया साथ ही सभी बच्चों को प्रयोगशाला से अधिक-से-अधिक ज्ञान ग्रहण करने की प्रेरणा दी, ताकि बच्चों में तार्किक क्षमता का विकास हो। इसके बाद सभी छात्रों ने अपनी कलात्मकता का परिचय देते हुए अद्भुत मॉडल प्रस्तुत किए। छात्रों की संरचनाओं ने सबको प्रभावित किया

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि कोटद्वार क्षेत्र के छात्र-छात्राओं में बहुत सी प्रतिभा छिपी हुई है उनमें अविष्कार करने का जुनून भी है अब टिंकरिंग लैब की उपलब्धता होने पर विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित की अवधारणाओं को समझने के लिए उपकरणों और उपकरणों के साथ काम करने का बच्चों मौका मिलेगा।

उन्होंने कहा की आज विज्ञान का युग है और हमें वैज्ञानिक सोच के साथ शिक्षा पद्धति को गति प्रदान करनी होगी। अटल टिंकरिंग लैब निश्चित ही विद्यार्थियों की शिक्षा में नई क्रांति लाएगी। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा अटल इनोवेशन मिशन (एआईएम) के तहत एटीएल को बढ़ावा दिया जा रहा है, जिसका उद्देश्य देश में दस लाख बच्चों को नवप्रवर्तक के रूप में विकसित करना है।

इस अवसर पर हंस फाउंडेशन के प्रभारी पदमेंद्र बिष्ट, बार एसोसिएशन के अध्यक्ष गिरीश पंत, विद्यालय अध्यक्ष कैप्टन बीपी बलूनी, विद्यालय प्रबंधक प्रकाश चंद कोठारी, संधु कोठारी, प्रधानाचार्य आरती कंडवाल, निदेशक मयंक प्रकाश कोठारी, उप प्रधानाचार्य विपिन जदली, अविरल पंत, भुवन मोहन गुसाई, पार्षद मनीष भट्ट, कैप्टन पी एल खंतवाल, दीपक जोशी, शशिप्रभा रावत सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

उत्तराखंड