सियासत : भाजपा नेता नरेश बंसल ने कांग्रेस पर साधा निशाना। कहा सच सामने आने के बाद बौखला गई है कांग्रेस

सियासत : भाजपा नेता नरेश बंसल ने कांग्रेस पर साधा निशाना। कहा सच सामने आने के बाद बौखला गई है कांग्रेस

देहरादून/इन्फो उत्तराखंड

कॉंग्रेस की तरफ से भाजपा पर लगाए आरोपों के जबाब में आज प्रेस ब्रीफिंग में राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ भाजपा नेता नरेश बंसल ने कहा कि उनकी पूर्ववृति सरकारों और पार्टी नेताओं के कारनामे सामने आने के बाद कॉंग्रेस बौखला कर अनर्गल आरोप लगा रही है।

हरिद्वार रोड स्थित पार्टी मीडिया सेंटर में पार्टी पक्ष रखते हुए उन्होने तंज़ कसते हुए कहा कि कॉंग्रेस के स्वयंभू चुनावी चेहरा पूर्व सीएम हरीश रावत घबराए हुए हैं क्यूंकि उनके बंद कमरे में किए गए मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वादे का सच जनता के सामने आ गया ? उनको नाराजगी है कि क्यूँ नमाज पढ़ने के लिए अवकाश के शासनादेश सरकारी लाइब्रेरी के पन्नों से निकल आए ? उन्होने कॉंग्रेस पर सीधे सीधे आरोप लगाया कि अब जनता भी जान गयी है कि कोंग्रेसी नेता सिर पे उत्तरखंडी टोपी और जेब में दूसरी टोपी रखते हैं। अल्पसंख्यक तुष्टीकरण वाली कोंग्रेसी नियत उत्तराखंड की जनता के सामने आ गयी है तो उन्हे जबाब देते नहीं बन रहा हैं।

नरेश बंसल ने कहा कि उत्तराखंडियत की आड़ में एक वर्ग विशेष को लाभ पहुंचाने के लिए उनकी मंशा सामने आने के बाद वह सोशल मीडिया या अन्य माध्यमों से प्रतिकृया देने वालों के खिलाफ मुक़द्दमे दर्ज़ कराने व डराने धमकाने का काम कर रही है। उन्होने कहा कि कॉंग्रेस पार्टी की और से किए जा रहे ऐसे अलोकतांत्रिक कार्यवाहियों की भाजपा कड़ी आलोचना करती है।

हम भरोसा दिलाते हैं कि हमारी पार्टी सत्य को सामने लाने वालों के हमेशा साथ है। उन्होने भाजपा को अपना 2017 का घोषणापत्र पढ़ने की सलाह देने वाली कॉंग्रेस को सलाह दी कि सबसे पहले उन्हे स्वयं अपना आज का घोषणापत्र ध्यान से पढ़ना चाहिए। क्यूंकि जो हवा हवाई वादे कॉंग्रेस ने इस घोषणा पत्र में किए हैं क्या उनकी पार्टी उनको कैसे पूरा करेगी है और अगर संभव है तो पहले उन्हे अपनी पार्टी शासित राज्यों में लागू करके दिखाये।

उन्होने कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष को बहस चुनौती देने वाली कॉंग्रेस पार्टी को बहस के बजाय जनता के बीच जाकर अपने कामों के आधार पर आशीर्वाद मांगना चाहिए। क्यूंकि जब मुद्दों पर बहस का समय था तब तो कॉंग्रेस पार्टी के नेता पार्टी के अंदर ही बहस, सिर फुटोव्वल और अपने दिल्ली दरबार के चक्कर काटने में जुटी रही। अब जहां तक बात है बहस की तो पार्टी की तरफ से लगातार वरिष्ठ नेता मीडिया में पार्टी का पक्ष रख ही रहे हैं जिस कॉंग्रेस नेता को गुंजाइश लगती हो वह टीवी प्रिंट किसी भी मंच पर आकर पक्ष रख सकता है।

उन्होने कॉंग्रेस के आरोपों पर प्रतिकृया देते हुए कहा कि कॉंग्रेस बिना किसी तथ्य के हमारी भाजपा सरकार पर घोटालों के आरोप लगा रही है जबकि उनके ही मुख्यमंत्री को सभी ने कैमरे पर राज्य की सम्पदा को लूटने खसोटने का लाइसेन्स देते देखा था। ये अवैध खनन की बात करते हैं उनके सरकार में अवैध खनन पर भी जमकर कमीशनखोरी होती थी। कॉंग्रेस मंहगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी की बात उसी तरह करती है जिस तरह गरीबी हटाने का करती आई है। क्यूंकि इन तमाम मुद्दों पर उनके शासित राजस्थान, छत्तीसगढ़, पंजाब, महाराष्ट्र के आंकड़े सबके सामने हैं।

प्रेस ब्रीफिंग के दौरान उनके साथ प्रदेश उपाध्यक्ष ज्योति गेरोला, प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी, प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर चौहान, संजीव वर्मा समेत अनेक पार्टी पदाधिकारी उपस्थित रहे।

राजनीति