ब्रेकिंग : मेडिकल कॉलेजों के निर्माणाधीन कार्य को शीघ्र पूर्ण करें : धन सिंह

ब्रेकिंग : मेडिकल कॉलेजों के निर्माणाधीन कार्य को शीघ्र पूर्ण करें : धन सिंह

चिकित्सा शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में विभागीय मंत्री ने दिये निर्देश

कहा, फैकल्टी, पैरामेडिकल एवं टेक्नीकल स्टॉफ की भी करें तैनाती

 

देहरादून/इंफो उत्तराखंड

सूबे के राजकीय मेडिकल कॉलेजों में निर्माणाधीन भवनों के कार्यों को शीघ्र पूरा करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये गये हैं। महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा को सभी मेडिकल कॉलेजों का स्थलीय निरीक्षण कर विस्तृत रिपोर्ट शासन को प्रेषित करने को कहा गया है। कॉलेजों में फैकल्टी, पैरामेडिकल एवं टेक्नीकल स्टॉफ की कमी को पूरा करने के लिए प्रधानाचार्यों को उच्च स्तर से अनुमति लेकर व्यवस्था बनाने को कहा गया। राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी, अल्मोड़ा एवं श्रीनगर को शीघ्र एमआरआई मशीन उपलब्ध कराई जायेगी।

यह भी पढ़ें 👉  दु:खद : खुद की खुशी के लिए की खुदखुशी, श्रीनगर नैथाना पुल से युवती ने मारी छलांग। देखें वीडियो

 

 

चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने आज सचिवालय स्थित डीएमएमसी सभागार में मेडिकल कॉलेजों की समीक्षा बैठक ली, जिसमें राजकीय एवं निजी मेडिकल कॉलेजों के प्राचार्य एवं कॉलेज प्रतिनिधियों ने प्रतिभाग किया। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ0 रावत ने राजकीय मेडिकल कॉलेजों में निर्माणाधीन भवनों के कार्यों को शीघ्र पूरा करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि कॉलेजों में टीचिंग फैकल्टी, पैरामेडिकल स्टॉफ, टेक्नीकल स्टॉफ की शत प्रतिशत तैनाती की व्यवस्था की जायेगी।

 

 

इसके लिए उन्होंने मेडिकल कॉलेजों में रिक्त पदों के सापेक्ष प्रस्ताव तैयार कर महानिदेशायल स्तर पर अनुमति प्राप्त करने के निर्देश भी प्राचार्यों को दिये। उन्होंने कहा कि राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी, अल्मोड़ा एवं श्रीनगर को शीघ्र ही एमआरआई मशीन उपलब्ध कराई जायेगी, ताकि स्थानीय स्तर पर उपचार के लिए मेडिकल कॉलेजों में आने वाले मरीजों को बेहत्तर चिकित्सा सुविधा मिल सके।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग : उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की गतिविधियों को संचालित करने के लिए 55 करोड़ के बजट प्रस्तावों को मिली हरी झंडी

 

 

उन्होंने मेडिकल कॉलेजों में छात्रावास सहित पूरे परिसर में सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान देने पर जोर दिया। उन्होंने महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा को मेडिकल कॉलेजों के निर्माण कार्यों एवं सफाई व्यवस्था का स्थलीय निरीक्षण कर जांच आख्या शासन को सौंपने के निर्देश दिये। विभागीय मंत्री डॉ0 रावत ने राजकीय एवं निजी मेडिकल कॉलेजों के प्राचार्यों को चिकित्सा एवं शोध के क्षेत्र में आपसी समन्वय बना कर कार्य करने को कहा। जिस पर सभी प्राचार्यों ने सहमति व्यक्त की।

यह भी पढ़ें 👉  अच्छी खबर : मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना के लिए सभी पर्वतीय जिले हुए चयनित

 

 

बैठक में सचिव स्वास्थ्य डॉ0 पंकज पाण्डेय, महानिदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डॉ0 तृप्ति बहुगुणा, अपर निदेशक मेडिकल शिक्षा एवं प्राचार्य दून मेडिकल कॉलेज डॉ0 आशुतोष सयाना, प्राचार्य श्रीनगर मेडिकल कॉलेज डॉ0 सी0एम0एस0 रावत, प्राचार्य अल्मोड मेडिकल कॉलेज डॉ0 सी0पी0 भैंसोडा, प्राचार्य हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज डॉ0 अरूण जोशी, प्राचार्य एसजीआरआर मेडिकल कॉलेज डॉ0 यशवीर दीवान, प्राचार्य गौतम बुद्ध चिकित्सा महाविद्यालय, डॉ0 राजेश मिश्रा, हिमालयन मेडिकल कॉलेज जौलीग्रांट के प्रतिनिधि डॉ0 मुस्ताक अहमद, संयुक्त निदेशक चिकित्सा शिक्षा डॉ0 एम0के0 पंत सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

उत्तराखंड