संविदा और बेरोजगार स्टाफ नर्स भर्ती की मांग को लेकर शासन स्तर पर हो रहा है छल, सरकार के आदेश के बाद भी अधिकारी कर रहे हैं मानसिक रूप से प्रताड़ित

संविदा और बेरोजगार स्टाफ नर्स भर्ती की मांग को लेकर शासन स्तर पर हो रहा है छल, सरकार के आदेश के बाद भी अधिकारी कर रहे हैं मानसिक रूप से प्रताड़ित

देहरादून/ इंफो उत्तराखंड 

संविदा एवं बेरोजगार स्टाफ नर्सेज महासंघ का धरना आज 120 वें दिन भी लगातार जारी रहा, वहीं एकता विहार देहरादून में पूरे प्रदेश से आए नर्सिंग अधिकारी लगातार नर्सिंग भर्ती को लेकर धरने पर बैठे हैं।

देखें वीडियो :-

संगठन की प्रदेश अध्यक्ष हरिकृष्ण बिजल्वाण द्वारा बताया गया कि मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री के अनुमोदन के बाद और दो- दो बार कैबिनेट करने के पश्चात भी अभी तक शासनादेश जारी नहीं हुआ है।

हरिकृष्ण बिजल्वाण ने कहा कि प्रदेश के बेरोजगारों के साथ शासन स्तर पर छलावा हो रहा है, और बेरोजगारों को मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। वहीं फ़ाइल को इधर से उधर घुमाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अधिकारियों को जनता और बेरोजगारों से कोई मतलब नहीं है, बेरोजगार तरष्ट हैं और अफसर मस्त है, जिस कारण पूरे प्रदेश में बेरोजगारी चरम सीमा पर है।

स्वास्थ्य विभाग में नर्सिंग अधिकारी के हजारों पद खाली पड़े हैं, पहाड़ों की पूरी जनता इलाज के लिए देहरादून और हल्द्वानी पलायन के लिए मजबूर है, और सरकार अधिकारियों पर अंकुश नहीं लगा पा रही है, जिससे कि पूरे प्रदेश की नर्सिंग अधिकारी हताश वह निराश है।

नर्सिंग बेरोजगारों द्वारा स्वास्थ्य मंत्री और मुख्यमंत्री से यही प्रार्थना है, कि अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए नर्सिंग भर्ती को तुरंत किया जाए।

वहीं आज धरना स्थल पर रवि सिंह रावत, गोविंद सिंह रावत, पुष्कर सिंह जीना, महिपाल सिंह, संजय ,प्रीतम शैलेश, हिमांशु, रईस,परवीन विकास, नीतू, प्रतिमा, हेमा, वंदना, रिचा, प्रियंका, अलका, मोनिका, अमिता, प्रीति मीनाक्षी उपस्थित रहे हैं।

उत्तराखंड