उत्तराखंड

बचा लो उत्तराखंड….! बाहरी भू-माफियाओं ने पहाड़ियों की ज़मीन कब्जाई, अब गिद्ध जैसी दृष्टि..

Join our WhatsApp Group

हम जमीन ही नहीं ज़मीर भी बेच रहे हैं

बाहरी भू-माफिया ने पहाड़ी की ज़मीन कब्जाई! 

पहाड़ियों की ज़मीन पर बाहरियों की गिद्ध दृष्टि

बाहरी भू-माफिया ने पहाड़ी की ज़मीन कब्जाई! 

देहरादून

हम सिर्फ़ अपनी जमीन नहीं बेच रहे, अपना ज़मीर (आत्मा) भी बेच रहे हैं। आज नहीं संभले तो एक दिन बाहरी भू-माफिया पूरे न केवल पहाड़ पर कब्ज़ा कर पहाड़ियों को उनकी ही जमीन से बेदख़ल करेगा, बल्कि हमारी सांस्कृतिक पहचान (आत्मा) को भी ख़त्म कर देगा।

  • इंफो उत्तराखंड से खास बातचीत :-

मोहित डिमरी ने “इंफो उत्तराखंड” से खास बातचीत में बताया कि अभी हाल ही में ज़मीन कब्जाने का एक और मामला सामने आया है। उनका आरोप है कि कुमाऊं मंडल के अल्मोड़ा जिले के सल्ट तहसील क्षेत्र के भकराकोट गाँव के लोगों की 40 नाली पैतृक ज़मीन को एक बाहरी व्यक्ति ने कब्जा दी है। कुमाऊं आयुक्त दीपक रावत से भी ग्रामीणों ने इस मामले की शिकायत की है।

यह भी पढ़ें 👉  डोईवाला : नाबालिग युवती को बहला फुसलाकर भगा ले जाने वाले अभियुक्त को पुलिस ने मध्य प्रदेश से किया गिरफ्तार

डिमरी जी ने इंफो उत्तराखंड से कहा कि दरअसल, गांव के ही रमेश चंद्र ने अपनी 24 नाली ज़मीन रूपा सरोहा निवासी रोज अपाटमैंट रोहिणी दिल्ली को एग्रीमेंट पर दी थी। परंतु रूपा ने 24 नाली भूमि के अतिरिक्त गांव वालों की लगभग 40 नाली जमीन पर कब्जा कर अवैध तरीके से रिजॉर्ट बना दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्यमंत्री के निर्देश, दो एयर एम्बुलेंस से एम्स दिल्ली शिफ्ट किये जायेंगे घायल चार वनकर्मी (forest worker)

Strong land law in Uttarakhand (उत्तराखंड में सशक्त भू-कानून)

उत्तराखंड में सशक्त भू-कानून न होने से जमीनों की खुली लूट मची हुई है। ऐसे में कोई भी बाहरी व्यक्ति यहां आकर भोले-भाले मूल निवासियों से औने-पौने दामों पर ज़मीन खरीद रहा है और उनकी ज़मीन पर बड़े-बड़े रिसोर्ट, होटल, रेस्टोरेंट, फार्म हाउस बनाकर उन्हीं को उसमें नौकर बनाया जा रहा है। आज स्थिति यह हो गई है कि बाहरी लोगों ने गांववालों की बेतहाशा जमीनें खरीद ली हैं।

Aggressors of foreign states on the mountains (बाहरी राज्यों का पहाड़ों पर आक्रमक) : 

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर : Gynaecologist डॉक्टर बनकर भोले-भाले लोगों से करता था लाखों की ठगी, एसटीएफ उत्तराखंड ने दिल्ली से किया गिरफ्तार 

पहाड़ में जहां नज़र फेरो, वहां कोई न कोई बाहरी व्यक्ति ज़मीन अपने नाम कर चुका है। यह भविष्य के लिये बहुत ही खतरनाक स्थिति है। इससे पहाड़ की सांस्कृतिक पहचान तो खतरे में आ ही गई है, साथ ही अस्तित्व का भी संकट खड़ा हो गया है। जहां-जहां बाहरी लोगों ने जमीन खरीदकर कारोबार शुरू किया है, वहां स्थानीय लोगों के साथ मारपीट की घटनायें बढ़ी हैं। दुःख इस बात का है कि हम जमीन के साथ ही अपना ज़मीर भी बेच रहे हैं। जागो पहाड़ियों, अपनी जमीन को बाहरी लोगों को मत बेचो।

(मोहित डिमरी)

"सूचीबद्ध न्यूज़ पोर्टल"

सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, देहरादून द्वारा सूचीबद्ध न्यूज़ पोर्टल "इंफो उत्तराखंड" (infouttarakhand.com) का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड सत्य की कसौटी पर शत-प्रतिशत खरा उतरना है। इसके अलावा प्रमाणिक खबरों से अपने पाठकों को रुबरु कराने का प्रयास है।

About

“इन्फो उत्तराखंड” (infouttarakhand.com) प्रदेश में अपने पाठकों के बीच सर्वाधिक विश्वसनीय न्यूज पोर्टल है। इसमें उत्तराखंड से लेकर प्रदेश की हर एक छोटी- बड़ी खबरें प्रकाशित कर प्रसारित की जाती है।

आज के दौर में प्रौद्योगिकी का समाज और राष्ट्र के हित में सदुपयोग सुनिश्चित करना भी आपने आप में चुनौती बन रहा है। लोग “फेक न्यूज” को हथियार बनाकर विरोधियों की इज्ज़त, और सामाजिक प्रतिष्ठा को धूमिल करने के प्रयास लगातार कर रहे हैं। हालांकि यही लोग कंटेंट और फोटो- वीडियो को दुराग्रह से एडिट कर बल्क में प्रसारित कर दिए जाते हैं। हैकर्स बैंक एकाउंट और सोशल एकाउंट में लगातार सेंध लगा रहे हैं।

“इंफो उत्तराखंड” (infouttarakhand.com) इस संकल्प के साथ सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर उतर रहा है, कि बिना किसी दुराग्रह के लोगों तक सटीक जानकारी और समाचार आदि संप्रेषित किए जाएं। ताकि समाज और राष्ट्र के प्रति जिम्मेदारी को समझते हुए हम अपने उद्देश्य की ओर आगे बढ़ सकें। यदि आप भी “इन्फो उत्तराखंड” (infouttarakhand.com) के व्हाट्सऐप व ईमेल के माध्यम से जुड़ना चाहते हैं, तो संपर्क कर सकते हैं।

Contact Info

INFO UTTARAKHAND
Editor: Neeraj Pal
Email: [email protected]
Phone: 9368826960
Address: I Block – 291, Nehru Colony Dehradun
Website: www.infouttarakhand.com

To Top