राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने देवप्रयाग में दूरदर्शिता और मिशन संपूर्ण मानव जाति के कल्याण के लिए चलाया विशेष प्रशिक्षण 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने देवप्रयाग में दूरदर्शिता और मिशन संपूर्ण मानव जाति के कल्याण के लिए चलाया विशेष प्रशिक्षण 

देवप्रयाग/इंफो उत्तराखंड 

नौ दिवसीय प्राथमिक वर्ग प्रशिक्षण का आज समापन किया गया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने देवप्रयाग में दूरदर्शिता और मिशन संपूर्ण मानव जाति के कल्याण के लिए, भारत को एक आत्मविश्वासी, पुनरुत्थानवादी और शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में दुनिया के सामने खड़ा होना चाहिए, के विषय पर प्रशिक्षण दिया गया है।

देवप्रयाग विद्या मंदिर में संघ दृष्टि से जिला देवप्रयाग के 45 स्वयंसेवकों ने 26 सितम्बर से 4 अक्टूबर तक 9 दिवसीय प्राथमिक शिक्षा वर्ग के माध्यम से प्रशिक्षण लिया।

प्रशिक्षण समापन के मौके पर वर्गाधिकारी सुरेश कोटियाल ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवी संघ के दूरदर्शिता मिशन के लिए नई पीढ़ी के युवाओं को तैयार कर रही है।

यह क्षेत्रीय गतिविधि के रूप में ही नहीं, बल्कि राष्ट्रीय गतिविधि के रूप में भी हर गाँव को सक्रिय करने वाले एक गतिशील शक्ति-घर के रूप में देखा गया है। कहा कि संघ का आदर्श पूरे समाज को संगठित कर राष्ट्र को गौरव के शिखर तक ले जाना है।
उन्होंने कहा कि लोगों की विभिन्नता में एकता ही संघ के साथ नितांत राष्ट्रीयता और राष्ट्रवाद ही संघ की अवधारणा है।

प्रशिक्षण में संघ के उद्देश्य के बारे में बताते हुए कहा कि संघ का मकसद समरसता व व्यक्ति का निर्माण करना है। व्यक्ति को बदलने का काम संघ करता है। पूरे समाज को स्वयंसेवी व गुणवान बनाना ही संघ का लक्ष्य है।

इस मौके पर वर्ग पालक हजारीलाल भट्ट, जिला प्रचारक भारत, वर्ग कार्यवाह राकेश टोडरिया, मुख्य शिक्षक शिवमूर्ति, नीरज ध्यानी, सन्तोष, नरेंद्र भंडारी, रणजीत सिंह व धर्मेन्द्र सहित कई स्वंयसेवक मौजूद थे।

हिल न्यूज़