बड़ी खबर : उत्तरकाशी में सड़क की मांग को लेकर सात गांवों के लोगों ने किया मतदान बहिष्कार

बड़ी खबर : उत्तरकाशी में सड़क की मांग को लेकर सात गांवों के लोगों ने किया मतदान बहिष्कार

उत्तरकाशी/इन्फो उत्तराखंड

लोकतंत्र के महापर्व के अवसर पर जहां हर व्यक्ति अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहा है, वहीं उत्तरकाशी जिले के सात गांवों ने मतदान का बहिष्कार कर दिया है। पुरोला विधानसभा सीट के 4 तथा यमुनोत्री विधानसभा सीट के 3 गांवों के लोगों ने चुनाव का बहिष्कार किया है। इन सभी क्षेत्रों के ग्रामीण गांव तक रोड न बनने से खफा हैं।

जानकारी के अनुसार पुरोला विधानसभा के शिलारू, शिकानू की सेरी, सेवा व बरी तथा यमुनोत्री विधानसभा सीट के कुठार, हलना व नाकोड़ा गांव के ग्रामीण लंबे समय से सड़क निर्माण की मांग कर रहे हैं। लेकिन कई बार आश्वासन मिलने के बावजूद उनकी मांग पूरी नहीं हुई। जिससे नाराज ग्रामीणों ने चुनाव बहिष्कार का ऐलान किया था।

यह भी पढ़ें 👉  दु:खद : यहां गहरी खाई में गिरी यूटिलिटी वाहन। एक की मौत व एक गंभीर घायल

इस चेतावनी को गंभीरता से लेते हुए जिला प्रशासन ने कई बार ग्रामीणों से वार्ता कर उन्हें समझाने का प्रयास भी किया. लेकिन समझौता नहीं हो सका। जिसके चलते सोमवार को इन सभी सातों गांवों के ग्रामीणों ने वोट नहीं डाले। खबर लिखे जाने तक इन सभी गांव के पोलिंग बूथ में एक भी वोट नहीं पड़ा था। वहीं जिला प्रशासन द्वारा लगातार ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया जा रहा था।

यह भी पढ़ें 👉  Video : दिल्ली से ऋषिकेश घूमने आए दो युवक गंगा नदी में डूबे। SDRF ने चलाया सर्च अभियान

पिथौरागढ़ में भी बहिष्कार:

लंबे समय से सड़क की मांग को लेकर पिथौरागढ़ जिले की गंगोलीहाट विधानसभा सीट के हीपा और चामाचौड़ के साथ ही धारचूला विधानसभा सीट के कनार गांव में ग्रामीणों ने मतदान के बहिष्कार का ऐलान किया है। अभी तक मिली खबरों के अनुसार चामाचौड़ और कनार गांव में स्थित बूथ में अभी तक किसी ने वोट नहीं किया है। जबकि हीपा गांव में महज 2 वोट पड़े हैं। बता दें कि गंगोलीहाट विधानसभा सीट के चामाचौड़ मतदान केंद्र में कुल 775 वोटर हैं। सड़क की मांग पूरी नहीं होने पर ग्रामीणों ने यहां मतदान का पूर्ण बहिष्कार किया है।

उत्तराखंड