बड़ा मुद्दा …. तो क्या अब अंकिता के अंतिम संस्कार के बाद उनके परिजनों को मिलेगा “इंसाफ” या फिर “दोषियों” को होगी फांसी की सजा, पढ़िए… इस खास रिपोर्ट में

बड़ा मुद्दा …. तो क्या अब अंकिता के अंतिम संस्कार के बाद उनके परिजनों को मिलेगा “इंसाफ” या फिर “दोषियों” को होगी फांसी की सजा, पढ़िए… इस खास रिपोर्ट में

श्रीनगर/ इंफो उत्तराखंड 

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के काफी प्रयास के बाद अंकिता के पिता ने पार्थिव शरीर को 12 घंटे से अधिक प्रदर्शन के बाद अंतिम संस्कार के लिए सहमति बना दी है।

हालांकि लोगों ने इसका जमकर विरोध किया, उन्होंने कहा कि जब तक अंकिता के दोषियों को फांसी की सजा नहीं मिलेगी और उनके परिजनों की शर्तों को पूरा नहीं किया जाएगा, तब तक यहां से अंकिता के शव को नहीं ले जाने देंगे।

लेकिन… इसका उल्टा ही हो गया, और अंकिता के पिता ने कहा कि मुख्यमंत्री से फोन पर बात कर हमें आश्वासन मिला है, कि इस मामले में जल्द ही बड़ी कार्रवाई होगी।

और वहीं देर शाम अंकिता के पिता की अपील करने के बाद आक्रोशित लोगों का गुस्सा शांत हुआ। अंकिता के अंतिम संस्कार के लिए सभी तैयार हो गए हैं।

एनआईटी घाट पर अंकिता के भाई ने मुखाग्नि दी। तो वहीं दूसरी ओर सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक में होगी।

 …क्या अंकिता को मिलेगा न्याय

हालांकि अब देखना यह होगा कि अंकिता के परिवार वालों को धामी सरकार इंसाफ दिला पायेगी, या दोषियों को ऐसे ही छोड़ देगी। ये आने वाले फैसले पर तय होगा। साथी यह भी देखना होगा कि इस हत्याकांड में किन-किन आरोपियों को धामी सरकार जेल में डालेगी या फांसी का फंदा पैनाएगी। यह खुलासा जल्द ही आम जनता के सामने आ जाएगा।

 ” पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर आशंका “

उत्तराखंड में अंकिता भंडारी हत्याकांड मामले में लोगों में उबाल है, और वहीं शनिवार सुबह अंकिता का शव मिला, जिसके बाद पुलिस ने परिजनों को इसकी सूचना दी, सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे अंकिता के भाई और पिता ने इसकी पुष्टि की है।

जिसके बाद पुलिस द्वारा अंकिता के शव को ऋषिकेश एम्स लाया गया, जहां डॉक्टरों द्वारा उसका पोस्टमार्टम किया गया। वहीं पोस्टमार्टम को लेकर लोगों ने जमकर प्रदर्शन भी किया, लेकिन उन्हें रिपोर्ट की जानकारी नहीं दी गई।

लेकिन देर शाम को एम्स द्वारा अंकिता की प्रोफेशनल रिपोर्ट दी गई, जिसमें शरीर पर चोट और अंकिता की मौत का कारण पानी में डूबने से बताया गया है,… पर बड़ा सवाल यह भी उठता है, कि जो रिपोर्ट अंकिता की आई है, वो कितनी सच है, और कितनी झूठ इसके बारे में सोमवार को अगली रिपोर्ट आने के बाद तय होगा।

सीएम धामी ने अंकिता के परिजनों से भी फोन पर बात की और आरोपियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

खबर आई कि अंकिता के परिजन बेटी का अंतिम संस्कार नहीं कर रहे थे, लेकिन शासन प्रशासन के मनाने के बाद अंकिता के अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुए, और वहीं ITI घाट श्रीनगर में अंकिता का अंतिम संस्कार हुआ।

उत्तराखंड