उत्तराखंड

बड़ी खबर : नर्सिंग भर्ती में बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों को किया जाएं बाहर, मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री लें जल्द संज्ञान : बिजल्वाण 

Join our WhatsApp Group

देहरादून/इंफो उत्तराखंड 

संविदा एवं बेरोजगार स्टाफ नर्सेज महासंघ की आपातकालीन बैठक आज भागीरथी होटल जॉलीग्रांट में आयोजित की गई। नर्सिंग भर्ती में बाहरी राज्यों के आवेदकों को रोकने के लिए संगठन ने इस बैठक में आगे की रणनीति बनाई।

संगठन के प्रदेश अध्यक्ष हरिकृष्ण बिजल्वाण ने इंफो उत्तराखंड को बताया कि आज पूरे प्रदेश से सैकड़ों नर्सिंग अधिकारी जो कि संविदा, उपनल, एनएचएम और आउटसोर्स, प्राइवेट अस्पतालों में कई सालों से कार्यरत हैं। और 12 वर्षों बाद हमारी यह भर्ती मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और स्वास्थ्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत के द्वारा वर्षवार की गई, जिसमें कि 3000 पदों पर वर्षवार भर्ती होनी है।

1564 पदों पर वर्तमान में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग में भर्ती गतिमान है, जो कि चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड द्वारा कराई जा रही है। 15 मई को चयन बोर्ड द्वारा अभिलेख सत्यापन का कैलेंडर जारी किया गया है, जिस कैलेंडर में बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों को अभिलेख सत्यापन के लिए बुलाया गया है। जिसका संगठन पहले से ही लगातार विरोध कर रहा है।

संगठन के प्रदेश अध्यक्ष हरिकृष्ण बिजल्वाण इंफो उत्तराखंड को बताया कि हर बार की तरह इस बार भी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के अवसर पर इस समस्या को अवगत कराया गया, और मुख्यमंत्री द्वारा इसे आश्वासन भी दिया गया है, कि जल्द ही इस भर्ती में केवल उत्तराखंड के स्थाई निवासी को ही दिया जाएगा, पर अब ये सोचने का विषय है कि धामी का निर्णय नर्सेज महासंघ के हित में कितना सही होगा।

जब इन्फो उत्तराखंड ने संघ के अध्यक्ष हरिकृष्ण बिजल्वाण से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि उच्च न्यायालय द्वारा सरकार को 4 हफ्ते का समय दिया गया था, किंतु 16 हफ्ते होने के बावजूद भी अभी तक जवाब दाखिल नहीं किया गया। ये बड़ी सोचने वाली बात है।

यह भी पढ़ें 👉  डोईवाला : एयरपोर्ट पर बांग्लादेशी नागरिक से बरामद की 12.39 लाख की रकम

उन्होंने आगे कहा कि माननीय उच्च न्यायालय द्वारा बाहरी राज्यों के आवेदकों को प्रोविजनल परमिट कर दिया गया है, जिसका खामियाजा प्रदेश के बेरोजगार भुगत रहे है। सरकारी अधिकारियों की उदासीनता के कारण प्रदेश के बेरोजगारों का अहित हो रहा है, जिसका संज्ञान अभी तक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और मंत्री धन सिंह रावत ने नहीं लिया और न ही इस पर कोई कार्रवाई करने के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। 

संगठन के अध्यक्ष द्वारा आज आपातकालीन मीटिंग बुलाकर सरकार से बाहरी राज्यों के आवेदकों को चयन प्रक्रिया से बाहर करने, शेष बचे चिकत्सा शिक्षा विभाग के 1400 पदों पर भी भर्ती वर्षवार करते हुए विज्ञापन जल्द जारी भर्ती करने की मांग की और जिन लोगों ने इस भर्ती में फर्जी स्थाई निवास बनाकर आवेदन किया है उनकी गहन जांच करते हुए उनका आवेदन निरस्त करने की मांग की।

यह भी पढ़ें 👉  डोईवाला : एयरपोर्ट पर बांग्लादेशी नागरिक से बरामद की 12.39 लाख की रकम

संगठन की कार्यकारिणी द्वारा निर्णय लिया गया कि जल्द ही एक बड़ी रैली कर प्रदेश सरकार को नींद से जगाया जाएगा और सो रहे अधिकारियों को उठाने के लिए उग्र आंदोलन किया जाएगा।

संगठन के अध्यक्ष ने “इंफो उत्तराखंड” को बताया कि अगर जल्द से जल्द इस पर मुख्यमंत्री ने संज्ञान नहीं लिया तो आने वाले समय में पहाड़ के लोगों की जगह भारी राज्यों का अकर्मक ज्यादा दिखाई दिया जाएगा।

    इसलिए उन्होंने सरकार से अनुरोध किया कि जल्द से जल्द बाहरी राज्यों की जांच करें और इन्हें बाहर निकाला जाएं और पर्वतीय राज्यों के लोगों को इनकी जगह पर जो कि हमारा “हक” है वह दिया जाए। 

बिजल्वाण जी ने आगे कहा कि सोशल मीडिया पर दो पत्र वायरल हो रहे हैं, जिसमें बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों को नर्सिंग में शामिल होने की परमिशन दी गयी, जो कि पूरी तरह से ग़लत है। इसका नर्सेज महासंघ विरोध करता है। और करता रहेगा, जब तक कि हमें हमारा हक न मिल जाएं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री को इस पर संज्ञान लेना चाहिए। 

यह भी पढ़ें 👉  डोईवाला : एयरपोर्ट पर बांग्लादेशी नागरिक से बरामद की 12.39 लाख की रकम

अगर मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने इस पर जल्द संज्ञान नहीं लिया तो वह पूरे प्रदेश में धरना प्रदर्शन करेंगे। जिसके जिम्मेदार स्वयं धामी सरकार होगी। 

इस कार्यक्रम में पूरे प्रदेश से सैकड़ों नर्सिंग अधिकारी गढ़वाल, कुमाऊँ से उपस्थित हुए आज संगठन के कोषाध्यक्ष रवि सिंह रावत, उपाध्यक्ष पुष्कर जीना, सचिव गोविंद सिंह रावत, भरत चौहान, गजेंद्र नेगी, विनोद नयाल,पवन कुमार, महिपाल सिंह, गिरीश डंगवाल, योगेश मठपाल, प्रवीन रावत, अरविंद चौहान, अनिल रमोला, जगदीप, प्रमोद, सुनील,प्रीतम, शैलेश राणा, हिमांशु रावत, रहेश चौहान, नीरज वर्मा ,आशीष राणा, हेमा, अलका, निशा, मोनिका, हेमा आर्य, कविता धामी, दीपिका साहू, मीनाक्षी, सुमन, रजनी, शीतल मोनिका एकता विजय लक्ष्मी, शर्मिला राखी, सारिका, निधि सोनी अर्चना, अमिता, प्रियंका, साक्षी, प्रियंका पूजा हिमानी रचना सोनम पूनम सपना रंजना आशा लोकेंद्र दीपक प्रभा स्वाति, दिनेश अजय, राधा कृष्ण, रोहित, विशाल यशपाल आदि सैकड़ों नर्सिंग बेरोजगार उपस्थिति रहे।

पढ़िए वायरल पत्र में बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों के नाम 

"सूचीबद्ध न्यूज़ पोर्टल"

सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, देहरादून द्वारा सूचीबद्ध न्यूज़ पोर्टल "इंफो उत्तराखंड" (infouttarakhand.com) का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड सत्य की कसौटी पर शत-प्रतिशत खरा उतरना है। इसके अलावा प्रमाणिक खबरों से अपने पाठकों को रुबरु कराने का प्रयास है।

About

“इन्फो उत्तराखंड” (infouttarakhand.com) प्रदेश में अपने पाठकों के बीच सर्वाधिक विश्वसनीय न्यूज पोर्टल है। इसमें उत्तराखंड से लेकर प्रदेश की हर एक छोटी- बड़ी खबरें प्रकाशित कर प्रसारित की जाती है।

आज के दौर में प्रौद्योगिकी का समाज और राष्ट्र के हित में सदुपयोग सुनिश्चित करना भी आपने आप में चुनौती बन रहा है। लोग “फेक न्यूज” को हथियार बनाकर विरोधियों की इज्ज़त, और सामाजिक प्रतिष्ठा को धूमिल करने के प्रयास लगातार कर रहे हैं। हालांकि यही लोग कंटेंट और फोटो- वीडियो को दुराग्रह से एडिट कर बल्क में प्रसारित कर दिए जाते हैं। हैकर्स बैंक एकाउंट और सोशल एकाउंट में लगातार सेंध लगा रहे हैं।

“इंफो उत्तराखंड” (infouttarakhand.com) इस संकल्प के साथ सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर उतर रहा है, कि बिना किसी दुराग्रह के लोगों तक सटीक जानकारी और समाचार आदि संप्रेषित किए जाएं। ताकि समाज और राष्ट्र के प्रति जिम्मेदारी को समझते हुए हम अपने उद्देश्य की ओर आगे बढ़ सकें। यदि आप भी “इन्फो उत्तराखंड” (infouttarakhand.com) के व्हाट्सऐप व ईमेल के माध्यम से जुड़ना चाहते हैं, तो संपर्क कर सकते हैं।

Contact Info

INFO UTTARAKHAND
Editor: Neeraj Pal
Email: [email protected]
Phone: 9368826960
Address: I Block – 291, Nehru Colony Dehradun
Website: www.infouttarakhand.com

To Top