दु:खद समाचार : यहां मां की पीठ पर बैठी साढ़े 3 साल की मासूम बच्ची को गुलदार ने बनाया अपना निवाला, परिवार में मचा कोहराम 

दु:खद समाचार : यहां मां की पीठ पर बैठी साढ़े 3 साल की मासूम बच्ची को गुलदार ने बनाया अपना निवाला, परिवार में मचा कोहराम 

पिथौरागढ़/इंफो उत्तराखंड 

पिथौरागढ़ से बड़ी दुखद खबर सामने आ रही है, जहां बेड़ीनाग तहसील के अंतर्गत चचड़ेत गांव में एक महिला की पीठ से उसकी साढ़े 3 साल की मासूम बच्ची को गुलदार उठा ले गया, जिसके बाद उसका शव घर से लगभग डेढ़ सौ मीटर दूर पर बरामद हुआ।

मिली जानकारी के मुताबिक बेडीनाग तहसील से करीब 11 किमी दूर चचड़ेत गांव में लोग गो-त्यार मना रहे थे, और इसी दौरान गांव के पान सिंह उसकी पत्नी कविता के साथ आंगन में खड़े थे।

और साढ़े तीन साल की बेटी कविता की पीठ पर थी। इसी दौरान पास में ही घात लगाकर बैठें तेंदुए ने मां की पीठ पर बैठी बेटी को झपटकर जंगल की ओर उठा ले गया।

जिसके बाद परिवार वालों ने हो हल्ला कर ग्रामीणों को एकत्र कर लिया। और सभी बच्ची को ढूंढने के लिए निकले। वहीं करीब डेढ़ सौ मीटर दूर पर बच्ची का शव मिला।

इसके बाद परिवार वालों ने गांव वालों को एकत्रित कर बच्ची को ढूंढने के लिए जंगल की ओर निकले, तभी घर से करीब डेढ़ सौ मीटर दूरी पर क्षत-विक्षत अवस्था में बच्ची का शव पड़ा मिला।

वहीं इस घटना की जानकारी ग्रामीणों ने मौके पर वन विभाग को दी, जिसकी सूचना मिलते ही वन क्षेत्राधिकारी चंद्रा मेहरा के नेतृत्व में टीम मौके पर पहुंची।

ग्रामीणों ने क्षेत्र में पिंजरा लगाने की मांग की है, और साथ ही क्षेत्रीय विधायक फकीर राम टम्टा, एसडीएम अनिल कुमार शुक्ला, थानाध्यक्ष मनोज पांडेय, भाजपा मंडल अध्यक्ष धीरज बिष्ट सहित बड़ी संख्या में लोग गांव पहुंचे।

विधायक ने मृत बच्ची के माता-पिता को ढांढस बंधाने के साथ ही वन विभाग से पीड़ित परिवार को मुआवजा देने और पिंजरा लगाने को कहा है।

हिल न्यूज़